DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोदी पर घूस देने का राजद का आरोप

अर्थशास्त्री मोहन गुरुस्वामी के मामले में राजद ने उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर अब घूस देने का आरोप लगाया है और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। दल ने उपमुख्यमंत्री से यह सार्वजनिक करने की मांग की है कि उन्होंने श्री गुरुस्वामी को जो एक लाख रुपये दिया वह किस खाते से दिया गया और क्या इसे आयकर में घोषित किया गया है। इधर भाजपा ने राजद महासचिव को आरोप प्रमाणित करने की चुनौती दी है। साथ ही कहा है कि यदि वे ऐसा नहीं कर पाते हैं तो अपने पद से इस्तीफा दें और श्री मोदी से क्षमायाचना करं।ड्ढr ड्ढr राजद के राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता श्याम राक और प्रांतीय महासचिव डा. निहोरा प्रसाद यादव ने कहा है कि यदि मुकदमा में सुलह के लिए पैसा दिया गया है तो कानूनन इसे घूस माना जाएगा। घूस देने वाला व्यक्ित अपराधी होता है। ऐसी स्थिति में श्री मोदी पर मुकदमा कर उन्हें क्यों नहीं गिरफ्तार किया गया। राजद नेताओं ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कहा है कि जीतनराम मांझी को इसलिए मंत्रिमंडल से हटा दिया गया था कि वे आरोपित थे। रामानन्द सिंह को ऐसे ही आरोप में मंत्री पद से हटना पड़ा। अब श्री मोदी के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है। दूसरी तरफ भाजपा प्रवक्ता विनोद नारायण झा ने कहा है कि श्री गुरुस्वामी द्वारा दायर मुकदमे में विधिमान्य सुलह हुई है। श्री गुरुस्वामी को न्यायालय प्रक्रिया के तहत खर्च की भरपाई की गई है न कि कोई जुर्माना हुआ है। उन्होंने कहा है कि जिसके दल के सर्वोच्च नेता को बार-बार न्यायालय में जाकर अपनी हाजिरी देनी पड़ती है, विदेश जाने के लिए अदालत से अनुमति लेनी पड़ती है और वापस आकर अदालत में पासपोर्ट जमा करना पड़ता है उसे राज्य के एक सम्मानित नेता पर कीचड़ उछालने का अधिकार नहीं है। ‘किसान मेला’ की तैयारी में जुटा कृषि विभागड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। राज्य के चार प्रमंडलों में ‘किसान मेला’ के आयोजन की तैयारी में कृषि विभाग जुट गया है। कृषि मंत्री नागमणि समस्तीपुर में शुरू होने वाले पहले मेला सह प्रदर्शनी का उद्घाटन दो मई को करंगे तो बतौर मुख्य अतिथि पीआरडी मंत्री रामनाथ ठाकुर उपस्थित रहेंगे। यहां सरकार कृषि विकास की सारी योजनाओं के साथ हाजिर रहेगी। मेले की तैयारी का जायजा लेने समस्तीपुर गये बामेति के निदेशक डा. आर के सोहाने ने बताया कि आयोजन का नाम ‘कृषि एवं कृषि विकास कार्यशाला’ रखा गया है। पांच दिवसीय इस कार्यशाला में दो जून को समस्तीपुर के किसान भाग लेंगे, तीन जून को बेगूसराय, चार जून को दरभंगा और पांच को मधुबनी के किसान भाग लेंगे। वहां फल, फूल और सब्जियों की प्रदर्शनी भी लगायी जायेगी। प्रदर्शनी में भाग लेने वाले तीन सर्वश्रेष्ठ किसानों को पुरस्कृत किया जायेगा। कार्यशाला में कुल 60 स्टालों के माध्यम से अधिकारी और वैज्ञानिक किसानों को नई-नई तकनीक की जानकारी देंगे। राजेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय का ‘एन्ड टू एन्ड’ पैकेा किसानों के लिए आकर्षण का केन्द्र होगा। इस पैकेा के माध्यम से किसानों को बीज उत्पादन से लेकर फसल कटाई तक की नई तकनीक की जानकारी दी जायेगी। हाजीपुर केवीके के स्टालों के माध्यम से केले के थम से रस्सी बनाने की दी जाने वाली जानकारी भी किसानों के लिए मददगार सबित होगी। कार्यशाला परिसर में ही लगाये गये स्टालों के माध्यम से कृषि यंत्रों के अलावा खाद, बीज की बिक्री भी की जायेगी। जिन यंत्रों पर अनुदान का प्रावधान है उन्हें अनुदानित दर पर ही बेचा जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मोदी पर घूस देने का राजद का आरोप