अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा विक्षुब्धों का सरकार पर निशाना

ाल्गुनी प्रकरण के बहाने भाजपा के विक्षुब्धों ने अपने प्रदेश नेतृत्व के साथ-साथ सरकार को भी निशाने पर लिया है। नेतृत्व परिवर्तन के लिए दिल्ली में केन्द्रीय नेताओं पर दबाव बनाकर लौटे असंतुष्ट जमात के 7 विधायकों ने रविवार को पीएमसीएच के आईसीयू में भर्ती भाजपा विधायक फाल्गुनी प्रसाद यादव से मुलाकात की और उनको मंच से धकेल कर नीचे गिराने वाले मंत्री नरन्द्र सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा है कि कोई कितना ही बड़ा आदमी क्यों न हो, कानून हाथ में लेने वाला अपराधी होता है और उस पर बिना किसी भेदभाव के कार्रवाई होनी चाहिए। बलथर घाट घटना में भाजपा विधायक का पक्ष लेते हुए उन्होंने कहा है कि इस घटना के फौरन बाद ही मंत्री के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए थी। मगर पुलिस-प्रशासन के अधिकारी ‘ऊपरी’ निर्देश के इंतजार में हाथ पर हाथ धर बैठे रहे।ड्ढr ड्ढr उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा लगता है कि सरकार भी इस घटना को लेकर गंभीर नहीं है। वरना श्री यादव की शिकायत पर तुरंत नोटिस लिया जाता। यही नहीं श्री यादव ने अपनी जान को खतरा बताते हुए पार्टी नेताओं से पहले ही सुरक्षा की गुहार लगाई थी जो अनसुनी कर दी गई। उनकी शिकायत थी कि भाजपा नेतृत्व भी इस मामले में अपनी ही सरकार पर ढंग से दबाव नहीं बना पा रहा है। जिसका नतीजा है कि लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाने वाले खुलेआम घूम रहे हैं। श्री यादव से मिलने गए विधायकों में सत्यदेव नारायण आर्य, अमरन्द्र प्रताप सिंह, रामेश्वर प्रसाद चौरसिया, प्रदीप दास, जनार्दन यादव और दिनकर राम के अलावा पूर्व विधायक मायानन्द ठाकुर भी थे। इनके अलावा श्री यादव से मुलाकात करने नगर विकास एवं आवास मंत्री भोला सिंह और सहकारिता मंत्री गिरिराज सिंह भी पीएमसीएच गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भाजपा विक्षुब्धों का सरकार पर निशाना