अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली की कटौती अब होगी कम

अगले हफ्ते से पटना मध्य के बाशिंदों को बिजली की कटौती से राहत मिलेगी। शाम होते ही मोहल्लों में अब नहीं पसरगा अंधेरा। यानी नियमित लोडशेडिंग कम होगी। बिजली बोर्ड ने लोगों की सुधि लेते हुए अपने संचरण व वितरण नेटवर्क को मजबूत करने का फैसला लिया है। इसी के तहत राजधानी के सबसे पुराने जक्कनपुर ग्रिड की क्षमता बढ़ायी जाएगी।ड्ढr ड्ढr पटना ग्रिड के रूप में भी बिजलीकर्मियों में चर्चित इस ग्रिड की क्षमता सौ मेगावाट की होगी। फिलहाल इसकी क्षमता 70 मेगावाट की ही है। दूसरी ओर जरूरत लगभग 0 से 100 मेगावाट की है। नतीजतन गर्मी के दिनों में तो पटना मध्य के लोगों की बिजली के चलते रुलाई छूट जाती है । ग्रामीण क्षेत्रों का भी लोड इसपर है। मसौढ़ी में भी इसी ग्रिड से अबतक बिजली दी जा रही थी। इधर मसौढ़ी ग्रिड के चालू हो जाने के बाद इस ग्रिड का लोड घटेगा। विद्युतबोर्ड के प्रवक्ता एसके घोष ने बताया कि दो से तीन दिनों में मसौढ़ी का लोड जक्कनपुर ग्रिड से घट जाएगा। बोर्ड द्वारा जक्कनपुर में पचास एमवीए का एक पॉवर ट्रांसफार्मर लगाया जा रहा है। फिलहाल यहां पचास एमवीए व बीस एमवीए का दो पॉवर ट्रांसफार्मर है। गर्मी में बिजली की मांग बढ़ जाती है। इसके चलते जक्कनपुर ग्रिड लोड से हांफने लगता है। अब बीस एमवीए के बदले पचास एमवीए का ट्रांसफार्मर लगाया जा रहा है। उधर गायघाट ग्रिड के खराब पड़े बीस एमवीए के ट्रांसफार्मर को भी बदलकर नया बीस एमवीए का ट्रांसफार्मर लगाया जाएगा। बाद में वहां भी बीस के बदले पचास एमवीए के ट्रांसफार्मर लगाने की योजना है। बोर्ड द्वारा पॉवर ट्रांसफार्मर की खरीद कर ली गयी है। पेसू के जीएम राजनाथ सिंह के मुताबिक ग्रिड में पचास एमवीए का ट्रांसफार्मर लगाा जा रहा है। अगले हफ्ते में इसे चार्ज कर चालू कर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिजली की कटौती अब होगी कम