DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हारो या जीतो उसका मजा लो : धोनी

आईपीएल के फाइनल में अंतिम गेंद पर मिली हार ने टीम चेन्नई के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी को निराशा में डुबो दिया है। वह हार का ठीकरा पूरी टीम के सिर फोड़ते हुए किसी विचारक की तरह बात कर रहे हैं। हार के बाद झेंप मिटाने के लिए धोनी पत्रकारों से बात करने के लिए हाथ में कोल्ड ड्रिंक की बोतल लेकर आए और टीवी पत्रकारों के बीच माईक सेट करने को लेकर हो रहे हंगामे पर धीमे से प्यार से बोले, -करने दो यार इन्हें, आराम से सेट कर लो। धोनी ने कहा - हार-जीत खेल का हिस्सा है, बीच की लाइन सबसे बेहतर रहती है। आप हारें या जीतें, सबसे बढ़िया यह रहता है कि शांत रहते हुए उसका मजा लें। उन्होंने हार के लिए किसी एक खिलाड़ी या गलती के बजाए पूरी टीम को दोष देते हुए कहा कि मैं किसी एक गलती या किसी एक खिलाड़ी की तरफ उंगली नहीं उठाना चाहता हूं। हमने हार का जिम्मा टीम के रूप में लेने का फैसला किया है। लेकिन यह पूछने पर कि अच्छी फॉर्म में चल रहे बद्रीनाथ को कप्पूगेदरा के बाद किस योजना के तहत भेजा गया था? धोनी ने कहा कि उस समय मैं तो क्रीज पर था, यह फैसला कोच ने लिया था। यूसुफ पठान की पारी और उनके छूटे कैचों पर धोनी ने कहा कि पठान जसे बल्लेबाज जबर्दस्त फॉर्म में हों तो उन्हे आउट करके ही आप जीत सकते हैं, क्योंकि जब तक वह क्रीज पर रहेंगे तेजी से रन बनाते रहेंगे। उन्हें आउट करना जरूरी था धोनी ने वार्न की कप्तानी की तारीफ करते हुए कहा, कि उन्होंने खिलाड़ियों को बेहतर ढंग से प्रेरित किया और उनकी क्षमताओं का पूरा उपयोग किया। आईपीएल को बेहद थका देने वाला टूर्नामेंट करार देते हुए धोनी ने कहा, अब मैं कुछ दिन आराम से सोना चाहता हूं। कुछ दिन तक बिस्तर से नही उठूंगा। यहा फॉर्मेट बहुत ही डिमांडिंग हैं। इसके लिए शरीरिक रूप से पूरी तरह फिट होना जरूरी है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हारो या जीतो उसका मजा लो : धोनी