DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2015 तक ऑनलाइन गेम का कारोबार करीब दस खरब रुपए

दुनिया में ऑनलाइन गेम तेजी से बढ़ रहा है और एक अनुमान के मुताबिक साल 2015 तक ऑनलाइन गेम का कारोबार करीब दस खरब रुपए का हो जाएगा। बीकानेर में इंटरनेट पर ऑनलाइन गेम्स प्रोग्रामिंग के तहत अत्याधुनिक एमएमआे तकनीक की गेम पोर्टल की शुरुआत करने वाली कंपनी के प्रबंधक निदेशक प्रकाश पारिख ने सोमवार को पत्रकारों को बताया कि इसकी बढ़ती लोकप्रियता से अगले दशक में यह कारोबार दो सौ अरब डालर तक पहुंच जाएगा। उन्होंने बताया कि इंटरनेट पर ऑनलाइन गेम तेजी से लोकप्रिय हो रहे है। अमेरिका में वर्तमान में हॉलीवुड की सभी फिल्मों की टिकट बिकने से कहीं यादा राजस्व ऑनलाइन गेम्स से मिल रहा है। इस क्षेत्र में कभी अमेरिका की तूती बोलती थी। अब भारत सुपर पावर बनने की राह पर है। प्रकाश पारिख ने बताया कि बीकानेर जैसे शहर से इंटरनेट गेम्स प्रोग्रामर्स एवं एनिमेशन के जादूगरों की नई खेप निकालने के लिए आईटी फर्म पारिख कम्प्यूटर्स तथा महाराज गेम डॉट कॉम के संयुक्त प्रयासों से गेम पोर्टल की शुरुआत की गई है। यह सभी गेम हिंसा, अशोभनीयता और भड़काऊपन से दूर शिक्षाप्रद हैं। इसके लिए पांच माह का पाठयक्रम शुरु किया गया है। इंटरनेट गेम्स की साउंड के लिए शीघ्र ही बीकानेर में हॉलीवुड स्तर का साउंड स्टूडियो खोला जाएगा। इंटरनेट पर गेम्स खेलने के शौकीन भविष्य में शुरु की जाने वाली प्रीपेड कॉर्ड योजना का लाभ उठा सकेंगे। पारिख ने बताया कि एमएमआे तकनीक में सेंकड के दसवें, लाखवें हिस्से तक की सूक्ष्म जानकारी पोर्टल पर समाहित की जा सकती है जिससे मल्टीयूजर गेम सुचारु रूप से चल सकता है। एक साथ 64 हजार लोग निर्बाध रूप से इसे खेल सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 2015 तक ऑनलाइन गेम का कारोबार करीब दस खरब रुपए