DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोमती के ‘इलाचा’ के लिए ढाई अरब और माँगे

गोमती को स्वच्छ व निर्मल बनाने के लिए अब 263.0रोड़ माँगे गए हैं।ोल निगम को पूरा भरोसा है कि इस पैसे से नदी को गंदा होने से बचाने के सार उपाय पूर होोाएँगे। शहर की तेाी से बढ़ रही आबादी को देखते हुएोल निगम ने वर्ष 2021 तक शहर में दो अन्योगहों पर भी सीवे ट्रीटमेंट प्लांट बनाने का प्रस्ताव तैयार किया है।ड्ढr गोमती को साफ-सुथरा देखने की इच्छा पूरी होने में फिलहाल अभी दो साल का समय और लगेगा। ‘हिन्दुस्तान’ ने सोमवार को गोमती नदी को मैला कर रहे कारणों पर प्रकाश डालने के बादोीवनदायिनी को बचाने की तरफ किएोा रहे प्रयासों को भी खँगाला।ोल निगम के अधिकारी कहते हैं कि नदी को स्वच्छ रखने मेंोितनीोिम्मेदारी उनकी है, उतनी हीोिम्मेदारी सिंचाई विभाग की भी है। निगम के एक अधिकारी ने बताया कि नदी को स्वच्छ रखने की सारी उम्मीदें पैसा मिलने पर ही है। केन्द्र से नदी की स्वच्छता को बनाए रखने के लिए 263.0रोड़ रुपए मिलने हैं। अभी तक 50 करोड़ रुपए ही मिल सके हैं। इससे हैदर कैनाल व कुकरैल नाले से आने वाले सीवे के लिए सीवे पम्पिंग स्टेशन बनाने का काम चल रहा है।ड्ढr इसके बाद भी बहुत काम होना बाकी है। लोनापुर में 345 एमएलडी क्षमता का एसटीपी बनाने के साथ ही ग्वारी कलवर्ट से एसटीपी तक की दो किलोमीटर दूरी तक राक्षिंग मेन लाइन बिछाने का भी काम होना है। इसके अलावा 26 नालों के डायर्वान के लिए सीवे पंपिंग स्टेशन बनाने का काम पूरा होने के बाद रख-रखाव के बाट का संकट खड़ा हो गया है।ड्ढr ाल निगम के मुख्य अभियंता (लखनऊ क्षेत्र) सूरा लाल कहते हैँ कि वर्ष 2021 तक ही ख्वापुर व मस्तेमऊ में भी सीवे ट्रीटमेंट प्लांट बनाने की योनाएँ है। यदि दोनों ही एसटीपी तय समय में बन गए तो फिर गोमती के मैला होने का संकट सदैव के लिए खत्म होोाएगा। इसके साथ ही सिंचाई विभाग व नगर निगम को भीड्ढr यह देखना होगा कि नदी के तट पर बसी कैटिल कालोनी की गंदगीड्ढr सीधे नदी में न आ सके। उन्होंने कहा कि तय बाट में सिर्फ हरदोई रोड से लेकर चिनहट तक की दूरी में ही गोमती को साफ रखने का खाका तैयार किया गया है। दूसरोिलों में नदी को साफ रखने के लिए फिलहाल अभी कोई योना नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गोमती के ‘इलाचा’ के लिए ढाई अरब और माँगे