DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंसेक्स गिरकर 16000 से नीचे पहुंचा

विश्व के शेयर बाजारों में मंदी और पेट्रोल, डीजल के दाम बढ़ने की प्रबल संभावनाओं के बीच देश के शेयर बाजार मंदे की गिरफ्त से मंगलवार को भी बाहर नहीं निकल पाए। धातु, बैंकेक्स, आईटी और कैपीटल गुड्स कंपनियों के शेयरों में बिकवाली का दबाव रहने से बीएसई का सेंसेक्स 53 दिन के अंतराल के बाद 100.62 अंक टूटकर 16,000 हजार से नीचे 15,अंक पर बंद हुआ। एनएसई का निफ्टी 23.70 अंक गिरकर 4,715.0 अंक रह गया। कारोबार की शुरूआत में ही शेयर बाजार तगड़ी गिरावट के साथ खुले। अमेरिका के शेयर बाजारों में कल तीव्र गिरावट थी। एशिया के शेयर बाजारों में भी मंगलवार को इसका प्रभाव दिखा। घरेलू शेयर बाजार भी इसकी चपेट में आने से नहीं बच पाए। सेंसेक्स सत्र के प्रारंभ में सोमवार के 16,063.18 अंक के मुकाबले 15,851.72 अंक पर नीचा खुला और सत्र के दौरान यह अधिकांश समय मंदे की गिरफ्त में दिखा। कारोबार के दौरान सेंसेक्स 16,000 के आंकडे को पार नहीं कर पाया। ऊंचे में 15,0 अंक तक जाने के बाद 15,70अंक तक लुढ़का और समाप्ति पर इसकी तुलना में पौने तीन सौ अंक सुधरने के बावजूद कुल 100.62 अंक अर्थात 0.63 प्रतिशत के नुकसान से 53 दिन के अंतराल के बाद 16,000 हजार से नीचे 15,अंक पर बंद हुआ। इससे पहले इस वर्ष ग्यारह अप्रैल को सेंसेक्स 16,000 अंक से नीचे 15,807.64 अंक पर बंद हुआ था। बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप भी बिकवाली के दबाव से नहीं उबर पाए। इनमें क्रमश: 36.8तथा 77.22 अंक का नुकसान हुआ। बीएसई के अन्य सूचकांकों में धातु 63.18 अंक, बैंकेक्स 57.08 अंक, आईटी 68.26 अंक, कैपीटल गुड्स 287.50 अंक टूट गए। एनएसई का निफ्टी 23.70 अंक अर्थात आधा प्रतिशत की गिरावट से 4,715.0 अंक पर बंद हुआ। सत्र में यह ऊंचे में 4,730 अंक तथा नीचे में 4,634 अंक तक लुढ़का। केन्द्रीय मंत्रिमंडल की बुधवार को बैठक होनी है, जिसमें पैट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी पर फैसला लिया जा सकता है। इस संबंध में सूत्रों ने बताया कि सरकार आम जनता पर कम से कम बोझ डालने का प्रयास करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सेंसेक्स गिरकर 16000 से नीचे पहुंचा