DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गरीबों के लिए हर साल एक लाख मकान

राय सरकार शहरी गरीबों के लिए हर साल दो कमरों के एक लाख मकान बनाएगी। ये मकान बुनियादी सुविधाओं से लैस होंगे। इसके अलावा सरकार जेलों में बंद बीमार, बूढ़े और असहाय सिद्धदोष कैदियों की समय से पहले रिहाई के मामले निपटाने के लिए विशेष अभियान चलाएगी। यूपी में तीन जून 1ो बसपा की पहली सरकार बनने के उपलक्ष्य में मुख्यमंत्री मायावती ने मंगलवार को यहाँ दोनों घोषणाएँ कीं।ड्ढr उन्होंने बताया कि सरकार के फैसले से करीब ढाई हजार पुरुष और महिला बंदियों की रिहाई का रास्ता साफ हो जाएगा। उन्होंने बताया कि ‘मान्यवर श्री कांशीराम जी शहरी गरीब आवास योजना’ सभी 71ोिलों में लागू कीोाएगी और इसके क्रियान्वयन की सारी जिम्मेदारी जिलाधिकारियों की होगी।ड्ढr मुख्यमंत्री ने बताया कि सरकार ने स्व. कांशीराम जी के सम्मान में ‘मान्यवर श्री कांशीराम जी शहरी समग्र विकास योजना’ शुरू की थी लेकिन अधिकतर नगर निकायों का समुचित सहयोग नहीं मिल पाने के कारण इस योजना के संचालन में कठिनाई आ रही थी और अपेक्षित काम भी नहीं हो पा रहा था। इस वाह से अब इस योजना के स्थान पर ‘मान्यवर श्री कांशीराम जी शहरी गरीब आवास योजना’ लागू करने का फैसला किया गया है। बजट में पुरानी योजना के लिए जिस धनराशि की व्यवस्था की गई थी, वह अब नई योजना में खर्च की जाएगी। नई योजना का स्वरूप इस प्रकार रखा गया है कि इसके संचालन में भविष्य में कोई अड़चन न आए। मुख्यमंत्री ने बताया कि नई योजना के तहत इस साल शहरी क्षेत्रों में रहने वाले गरीबों को बुनियादी सुविधाओं से युक्त दो कमरों के एक लाख पक्के आवास उपलब्ध कराए जाएँगे। इस योजना में सड़क, बिजली, पेयजल तथा स्वच्छ शौचालय की सुविधाएँ उपलब्ध कराई जाएँगी।ड्ढr पहले चरण में बनेंगे छोटेोिलों में आवासड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गरीबों के लिए हर साल एक लाख मकान