अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आसिफ का भाग्य अब यूरिन टेस्ट पर निर्भर

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आसिफ का भाग्य अब यूरिन टेस्ट पर निर्भर हैं। 25 वर्षीय पाकिस्तानी गेंदबाज आसिफ को दो दिन पहले अपने पास प्रतिबंधित दवा रखने के आरोप में दो जून को दुबई हवाई अड्डे पर हिरासत में ले लिया गया था। संयुक्त अरब अमीरात में पाकिस्तान के राजदूत एहसान उल्ला खां का कहना है कि आसिफ को अभी एयरपोर्ट के डिटेंशन सेंटर में रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि आसिफ के पेशाब के नमूने गिरफ्तार करते ही ले लिए गए थे। उन नमूनों की जांच रिपोर्ट आने के बाद ही तेज गेंदबाज की रिहाई संभव हो पाएगी। इससे पहले पाक राजदूत ने कहा था कि कुछ गलतफहमियों के कारण आसिफ को हिरासत में लिया गया था जो अब दूर हो चुकी हैं। उन्होंने समाचार पत्र डॉन से कहा था कि आसिफ को जल्द ही रिहा कर दिया जाएगा। दुबई कस्टम अधिकारियों के मुताबिक आसिफ के बटुए से 0.24 ग्राम प्रतिबंधित पदार्थ बरामद किया गया था। इस पदार्थ को जांच के लिए प्रयोगशाला में भेजा गया है। एहसान उल्ला खां ने कहा कि मैं आशावादी हूं और मुझे उम्मीद है कि उनके मामले में सब ठीक ही होगा। इस बीच दुबई में शाही परिवार में हुई मौत से शोक की घड़ी है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को डर है कि गिरफ्तार तेज गेंदबाज की रिहाई में और भी देर हो सकती है। पीसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शफकत नागमी ने कहा कि जहां तक हमें जानकारी है इस मामले में फिलहाल कोई ताजा तरक्की नहीं हुई है। दुबई में गम का माहौल है, इसलिए उनकी रिहाई में और भी देर हो सकती है। उन्होंने कहा कि जब तक रिपोर्ट नहीं आती बात कुछ भी आगे नहीं बढ़ सकती। अभी तक हालात यह हैं कि आसिफ पर कोई चार्ज तो नहीं लगाया गया है पर उन पर दुबई के अधिकारियों की जांच चल रही है। इस मामले को निपटने में अभी समय लग सकता है।ड्ढr शेखूपुरा में लोग स्तब्धड्ढr कराची। मोहम्मद आसिफ के हिरासत में लिए जाने से उनके माता पिता, दोस्त और पड़ोसी स्तब्ध हैं। पाकिस्तान के तेज गेंदबाज आसिफ को प्रतिबंधित ड्रग्स के साथ पकड़े जाने के बाद दुबई में हिरासत में ले लिया गया।ड्ढr इस पूर प्रकरण पर मीडिया की दिलचस्पी से उनके माता पिता काफी नाराज हैं। उन्होंने अपने घर पर ताला लगा दिया है और मीडिया से बचने के लिए किसी दूसरी जगह रहने के लिए चले गये हैं।ड्ढr वे तब तक अपने घर नहीं लौटेंगे जब तक यह मामला सुर्खियों में बना हुआ है। जियो न्यूज का एक संवाददाता शेखूपुरा से 14 किलोमीटर दूर आसिफ के घर पहुंचा और उसने पाया कि मीडिया की दिलचस्पी की वजह से जिस तरह यह मामला पूरी दुनिया में उछला उससे आसिफ के गांव के लोग खफा हैं।ड्ढr तेज गेंदबाज के ज्यादातर पड़ोसियों और दोस्तों ने इस मामले पर बोलने से इंकार कर दिया।ड्ढr आसिफ के एक पड़ोसी ने कहा, ‘इस मामले में कोई दूसर से बात नहीं करके परशानी में पड़ना नहीं चाहता।’ आसिफ के कुछ दोस्त अंतत बात करने के लिए राजी हो गये लेकिन अपने घर के नजदीक नहीं।ड्ढr वे शेखूपुरा स्टेडियम में बात करने के लिए तैयार हुए जहां आसिफ ने क्रिकेट खेलना सीखा।ड्ढr उनके एक दोस्त ने कहा कि ज्यादातर युवा उन्हें अपना आदर्श मानते हैं और शेखूपुरा को उस पर गर्व है। लेकिन इस घटना के बाद हम शर्मसार हैं। आसिफ ने हमें नीचा दिखाया है।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आसिफ का भाग्य अब यूरिन टेस्ट पर निर्भर