अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टैक्स घटा दें तो सस्ता हो सकता है डीचाल-पेट्रोल

पेट्रोलियम पदार्थो पर वाणिय कर की दरं घटाकर सरकार राय के नागरिकों को पेट्रोल, डीाल की दरों में बढ़ोत्तरी की ‘मार’ से बचा सकती है! यूपी पेट्रोलियम ट्रेडर्स एसोसिएशन ने भी वाणिय कर की दरं घटवाने के लिए आंदोलन करने का निर्णय लिया है।ोिसकी रूपरखा तय करने के लिए पम्प मालिकों को लखनऊ बुलाया गया है।ोरूरत पड़ने परोनहित में आंदोलन भी कियाोा सकता है।ड्ढr एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष बीएन शुक्ला का कहना है कि तेल कम्पनियों को नुकसान से बचाने, पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए क्रूड आयल पर एक्साक्ष खत्म कर दिया गया। राय सरकार अपने नागरिकों को बढ़ी हुई दरों की मार से राहत दे सकती है। मौाूदा समय में यूपी में डीाल पर वाणिय कर की दर 21 और पेट्रोल पर 26 फीसदी है। इस दर को क्रमश: 12 और 20 फीसदी कियेोाने बढ़ी हुई दर का पेट्रोल व डीाल के मू्ल्य पर असर नहीं पड़ेगा। श्री शुक्ल ने बताया कि नई दिल्ली में डीाल पर 12 फीसदी और पेट्रोल पर 20 फीसदी टैक्स है। उत्तराखण्ड में भी टैक्स की दर काफी कम है। हरियाणा का स्टेट टैक्स भी दिल्ली के बराबर है। उनका कहना है कि पेट्रोल, डीाल की कीमतों में बढ़ोत्तरी के बाद पश्चिम बंगाल व महाराष्ट्र सरकार ने राय का टैक्स कम करने का भरोसा दिलाया है, ऐसे में यूपी सरकार भी टैक्स कम करके अपने नागरिकों को राहत दे सकती है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: टैक्स घटा दें तो सस्ता हो सकता है डीचाल-पेट्रोल