DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा आलाकमान की पैनी नजर झारखंड पर

र्नाटक में इंट्री ने वाकई भाजपा में जान डाल दिया है। राजनीतिक परिदृश्य में भाजपा के सामने अब सीधे लोस चुनाव है। भाजपा आलाकमान की पैनी नजर झारखंड पर है। पार्टी में चाणक्य के रूप में उभर अरुण जेटली को भी झारखंड के बार में सोचने को कहा गया है। दिल्ली में हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रदेश भाजपा की खूब वाहवाही हुई है। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अपने भाषण में झारखंड भाजपा की गतिविधियों और सरकार के खिलाफ किये गये जोरदार आंदोलन को सराहा। भाजपा के 12 दिनी आंदोलन ने जहां पार्टी में ऊरा भर दी, वहीं नेतृत्व की भी उम्मीदें बढ़ी हैं। लिखित कॉपी में भी प्रदेश भाजपा की सराहना हुई है।ड्ढr प्रदेश अध्यक्ष पीएन सिंह कहते हैं:राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में जिस तरह से प्रदेश भाजपा की वाहवाही हुई, उससे हमें और भी मजबूती से खड़ा होने की हिम्मत मिली है। प्रदेश भाजपा यह तेवर और आगे बढ़ायेगी। प्रदेश में यूपीए सरकार की हालत और कांग्रेस के अल्टीमेटम के बाद फांक हुए यूपीए से भाजपा बड़ी राहत में है। सूत्रों के मुताबिक कर्नाटक में भाजपा को बुलंदी पर पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले अरुण जेटली का समय पर इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे पहले बिहार, मध्यप्रदेश, पंजाब, गुजरात में जेटली ने अपनी रणनीति का लाभ पार्टी को दिया है। यूपीए के शीर्ष स्तर पर भी इसे महसूस किया गया है।ड्ढr 2004 के चुनाव में झारखंड में भाजपा को बड़ा झटका लगा था। भाजपा इस बार वापसी के प्रयास में है। उम्मीद है कि यूपीए के अंदर खींचतान का लाभ उठाया जा सकता है। प्रदेश में अग्रिम पंक्ित के नेताओं की गुटबाजी तथा पर नेतृत्व परदा डाल सके, तो उसकी राह और भी आसान होगी। भाजपा 14 में से आठ लोकसभा सीटों को आसानी से अपनी झोली में डालने की जुगत में है। वैसे नजर तो सभी 14 सीटों पर है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भाजपा आलाकमान की पैनी नजर झारखंड पर