DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मप्र में आज शाम होगा मंत्रिमंडल विस्तार

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार शाम मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे। मंत्रिमंडल में पांच नए मंत्रियों को शामिल किए जाने की संभावना है। आधिकारिक सूत्रांे के अनुसार शाम साढ़े पांच बजे राजभवन में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सूत्रांे का कहना है कि नए मंत्री बनाए जाने के मुद्दे पर चौहान ने बुधवार रात के बाद गुरुवार सुबह फिर प्रदेश संगठन महामंत्री माखन सिंह और प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर से गहन मंत्रणा की। सुबह दोनों नेता मुख्यमंत्री निवास पर पहुंचे। चर्चा के बाद मुख्यमंत्री हवाई अड्डे की आेर रवाना हो गए जहां से वह इंदौर जाएंगे और दोपहर बाद वापस लौटेंगे।सूत्रों ने बताया कि माखन सिंह और तोमर भी मुख्यमंत्री के साथ हवाई अड्डे तक गए हैं। पार्टी सूत्रों के मुताबिक राय में इस वर्ष के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले गुरुवार को होने वाला मंत्रिमंडल का विस्तार संभवत: अंतिम होगा। इसके बाद पांच दिवसीय विधानसभा का मानसून सत्र सात जुलाई को शुरू होगा। सत्र के बाद भाजपा समेत सभी राजनीतिक दल चुनाव की तैयारियों में पूरी तरह जुट जाएंगे। सूत्रों ने बताया कि राय में भाजपा को सत्ता में बरकरार रखने के मिशन 2008 के तहत मुख्यमंत्री और संगठन मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान फूंक.फूंक कर कदम रखना चाहते हैं ताकि किसी तरह का असंतोष नहीं उभरे। इसके अलावा जातीय और क्षेत्रीय समीकरणों पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। मंत्रिमंडल में अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के अलावा महिलाआें को तवजो दिए जाने की संभावना है। मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने को लेकर प्रारंभिक तौर पर मुख्य रूप से विधायक ढाल सिंह बिसेन सुनील नायक लाल सिंह आर्य अर्चना चिटनिस और कैलाश चावला के नाम उभरकर सामने आए थे लेकिन इसमें कुछ और नए नाम जुड़ गए। नए नामों में रामदयाल अहिरवार निर्मला भूरिया ज्ञान सिंह रामदयाल प्रभाकर और जगन्नाथ सिंह बताए जा रहे हैं। सूत्रों ने मौजूदा मंत्रियों विजय शाह तुकोजीराव पवार अखंड प्रताप सिंह गोपाल भार्गव और नरोत्तम मिश्रा का राजनीतिक वजन कम करने के उद्देश्य से उनके विभागों में फेरबदल किए जाने की संभावना से इंकार नहीं किया है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. गौरीशंकर शेजवार और नर्मदा घाटी विकास मंत्री नागेंद्र सिंह को महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी सौंपकर उनका कद बढ़ाया जा सकता है। वर्तमान राय मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री समेत 21 कैबिनेट और नौ राय मंत्री शामिल हैं। मंत्रियों की अधिकतम संख्या मुख्यमंत्री समेत 35 हो सकती है।चौहान ने नवंबर 2005 में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। इसके बाद 25 अगस्त 2007 में उन्होंने मंत्रिमंडल का पहला विस्तार किया था। तब छह सदस्यों को मंत्रिमंडल में शामिल करने के साथ दो राय मंत्रियों को पदोन्नत किया गया था। उस समय मंत्रिमंडल में तीन स्थान रिक्त छोड़े गए थे। इस विस्तार के दौरान शिक्षा मंत्री बनाए गए श्री लक्षमण सिंह गौड़ का बाद में एक सड़क दुर्घटना में निधन हो गया था जबकि स्वास्थ्य मंत्री अजय विश्नोई ने हाल में इस्तीफा दिया है। इस तरह मंत्रिमंडल में अभी अधिकतम पांच मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मप्र में आज शाम होगा मंत्रिमंडल विस्तार