DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजरंग

चचा चौधरी और भतीजे तैयार पतंग की डोर अब किसी के कंट्रोल में नहीं रही। महंगाई की यह पतंग तेजी से आकाश में उड़ रही है। हर दिन नयी ऊंचाई पर चढ़ रहे पतंग को देख-देख सरकारी पार्टी के लोग हलकान हुए जा रहे हैं। जबकि अपोजिशन पार्टी के लोग अंदर ही अंदर हंस रहे हैं। सत्ता की कुरसी पर चढ़ने के लिए किसी ना किसी का सहारा तो चाहिए। महंगाई का सहारा मिल रहा है। कमल ब्रांड पार्टी के लिए बूझिये कि लॉटरी ही लग गयी है। जो रोगी भावे, वही वैद्य बतावे। महंगाई बढ़ल जाये, कमल ब्रांड के नेतवन बिहंसल जायें। लगाये जा जोर। ऊहां दिल्ली में चाचा चौधरी की बाहें फड़फड़ा रहीं हैं। बड़ी भाग से पार्टी ने उनके नाम को देश की सबसे ऊंची कुरसी के लिए प्रपोज कर दिया है। अबकी बारी. . बिहारी जी कुरसी के कंटेस्ट से बाहर हैं। सो चचा एकदम दांत पिजाये खड़े हैं। जइसे-ाइसे दिन नजदीक आ रहा है चचा की बेचैनी बढ़ती जा रही है। स्टेट-स्टेट में फैले चचा के भतीजा लोग भी गद्गद् है। चचा गद्दी में बैठेंगे, तो भतीजा लोगों का दिन भी बहुरगा। सो सब भतीजा लोग भी भिड़ गया है। झारखंड में भी चचा के भतीजा महंगाई को कैश कराने की फिराक में है। चचा की लॉटरी लग गयी, तो इनकी भी किस्मत खुलिये जायेगी। ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजरंग