अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

असरदार रहा वाम का बंद

पट्रोलियम उत्पादों की कीमतं बढा़न क विरोध मं वाम शासित तीन राज्यां पश्चिम बंगाल, करल और त्रिपुरा मं माकपा क12 घंट क बंद का आह्वान क कारण आम जनजीवन प्रभावित हा रहा है। कालकाता मं बाजारां का पूरी तरह स बंद रखा गया। वहीं, पश्चिम बंगाल क अन्य शहरां मं भी वाम समर्थक सड॥कां पर उतर आए और तल की कीमतां क बढ़ाए जान का विराध कर रह थे। राज्य मं बंद का सबस ज्यादा असर कालकाता मं रहा। सड॥कां पर वाहनां का आवागमन अपक्षाकृत कम हुआ। व्यावसायिक प्रतिष्ठान, स्कूल, कॉलज और अन्य निजी संस्थान बंद रहे। रेल सवाआं पर भी बंद का खासा असर दखा गया। प्रदर्शनकारियां क विराध का दखत हुए लगभग दर्जन भर गाड़ियां का परिचालन रद्द कर दिया गया था। रद्द की गई गाड़ियां मं हावड़ा—रांची शताब्दी एक्सप्रस, हावड़ा—धनबाद ब्लैक डायमंड एक्सप्रस, सियालदह—गुवाहाटी एक्सप्रस और हावड़ा—दिी पूर्वा एक्सप्रस आदि शामिल हैं। इसक साथ ही मट्रा सवाएं भी बाधित हुई। वहीं, कालकाता हवाईअड्ड स उड़ान भरन वाल विमानां का भी असुविधा हुई। कालकाता आने—जाने वाल लगभग 70 फीसदी विमानां की उड़ान रद्द कर दी गई थी।ड्ढr इनमं अधिकतर उड़ान किंगफिशर एयरलाइन की थी जबकि कई उड़ानां का समय बदला गया। एयर इंडिया की काठमांडू की उड़ान रद्द रही। अधिकारियां न बताया कि शाम का बंद समाप्त हान क बाद एयर इंडिया क अतिरिक्त उड़ान की व्यवस्था की जाएगी।ड्ढr ड्ढr दूसरी आर पट्रोल, डीाल और रसाई गैस की कीमतों मं बढ़ोत्तरी क विरोध मं करल मं सत्तारूढ़ वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) और विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ओर स भी गुरुवार को बंद का आह्वान किया गया था। इस दौरान राज्य क सभी शैक्षिक संस्थान बंद रहे और सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था प्रभावित रही। हालांकि, राज्य क सभी सरकारी दफ्तर खुल हैं। निजी और सार्वजनिक वाहन नहीं चलन क कारण यात्रियों को काफी परेशानियां का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, त्रिपुरा मं भी बंद का छिटपुट असर दखा गया। सड॥कां पर सन्नाटा रहा। निजी व सार्वजनिक क्षत्रां क संस्थान बंद रहे। प्रदर्शनकारी शांतिपूर्ण तरीक स बंद का सफल बनान मं जुट थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: असरदार रहा वाम का बंद