अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विहिप की 14 से हरिद्वार में बैठक

हरिद्वार में 14 जून से शुरू हो रही विश्व हिन्दू परिषद की बैठक में अयोध्या में प्रस्तावित राम मन्दिर आन्दोलन के सामने उत्पन्न स्थितियों पर विस्तार से चर्चा होने की उम्मीद है। विहिप मन्दिर आन्दोलन तेज करने के रास्ते तलाशेगी।ड्ढr 14 जून को मन्दिर निर्माण उच्चाधिकार समिति की बैठक होगी जिसमें श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास, जगद्गुरु शंकराचार्य तथा प्रमुख संत भाग लेंगे। इसके बाद 15-16 जून को केन्द्रीय मार्गदर्शक मण्डल की बैठक होगी। बैठक के एजेण्डे में मन्दिर के अलावा गंगा रक्षा, गोरक्षा, इस्लामिक आतंकवाद तथा सामाजिक समरसता आदि के मुद्दे भी रखे गए हैं। सूत्रों का कहना है कि मन्दिर आन्दोलन के अंौर आगे न बढ़ पाने से विहिप के सामने तमाम तरह की समस्याएँ पैदा हो रही हैं। विहिप द्वारा तैयार किए गए माडल के हिसाब से मन्दिर बनाने के लिए एक लाख 75 हजार घन फुट पत्थर की आवश्यकता पड़ेगी। इसमें से 75 प्रतिशत पत्थर तराशे जा चुके हैं। सिंहद्वार, नृत्य व रंग मण्डप, तथा गर्भगृह आदि के पत्थरों का काम पूरा हो चुका है। यह सभी तराशे हुए पत्थर कार्यशाला में इधर-उधर पड़े हैं। पाँच-छह माह से यहाँ काम रुका हुआ है। पत्थर तराशने के काम में लगे राजस्थान, गुजरात आदि के कारीगर वापस लौट गए हैं। विहिप तथा उससे जुड़े साधु-संत केन्द्र से अधिगृहीत भूमि वापस लेने के लिए किसी आन्दोलन की रूपरखा हरिद्वार में तय कर सकते हैं। विहिप के प्रान्तीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा बताते हैं कि हरिद्वार बैठक में धर्मान्तरण के मुद्दे पर भी चर्चा होगी। ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विहिप की 14 से हरिद्वार में बैठक