अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छपरा में उत्पाद अधीक्षक कार्यालय में तोड़फोड़

शहर में मिलिट्री कैंटीन (सिर्फ शराब की) सील किए जाने से नाराज दर्जनों पूर्व सैनिकों ने शनिवार को उत्पाद अधीक्षक कार्यालय में तोड़फोड़ करते हुए अधिकारियों व कर्मियों से गाली-गलौज की। लाठी-डंडे से लैस पूर्व सैनिकों की नाराजगी देखकर उत्पाद अधीक्षक की अनुपस्थिति में भयभीत कर्मी किसी तरह कार्यालय बंद कर जान बचाकर बाहर भागने को विवश हुए। पूर्व सैनिकों ने नेम-प्लेट बोर्ड, शीशा, वायरिंग, जेनरटर तार आदि तोड़ दिया और डंडे भांजते हुए उत्पाद अधीक्षक के विरुद्ध जमकर नारबाजी की।ड्ढr ड्ढr बाद में उत्पाद निरीक्षक अंजनी कु. सिन्हा ने डी. एस. तिवारी, बबन महतो, हेमंती देवी, सी.के. महतो, ओमप्रकाश, आर.एन. राम, हरन्द्र कुमार सिंह आदि पूर्व सैनिकों पर प्राथमिकी के लिए नगर थाने में शिकायत पत्र दिया। कर्मियों ने डीएम से भी मिलकर शिकायत की तथा सोमवार को पुन: हमले की आशंका जताई।ड्ढr ड्ढr डीएम ने पूर्व सैनिकों के इस कदम को गैर कानूनी बताया। मालूम हो कि गत 3 जून को भी पूर्व सैनिकों ने इसे अपने संवैधानिक अधिकार के खिलाफ बताते हुए समाहरणालय परिसर और उत्पाद कार्यालय में प्रदर्शन करते हुए शुक्रवार तक कैंटीन का सील खोलने को लेकर अल्टीमेटम देते हुए चेताया था कि यदि ऐसा नहीं हुआ तो वे शनिवार को आंदोलन करंगे। बावजूद जिला प्रशासन इस दिशा में कोई ठोस निर्णय नहीं ले सका था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: छपरा में उत्पाद अधीक्षक कार्यालय में तोड़फोड़