अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक मंत्री पर साल भर में एक करोड़ खर्च

झारखंड की आधी आबादी गरीबी-मुफलिसी में जीती है, लेकिन सरकार के मंत्री राजशाही ठाठ-बाट की जिंदगी जीते हैं। उनकी शान में कोई गुस्ताखी न हो, इसके लिए खजाने का मुंह हमेशा खुला रखा जाता है। एक-एक मंत्री के पीछे सरकारी खजाने से हर महीने नौ लाख रुपये खर्च आता है। साल का हिसाब जोड़ें तो एक करोड़ नौ लाख रुपये से ज्यादा खजाने से निकल जाता है। यानी माल महाराज का और मिर्जा खेलैं होली।ड्ढr कर्मचारियों का लाव-लश्कर, नौकर-चाकर और सुरक्षाकर्मियों की फौा, चमचमाती गाड़ियों का काफिला, एक-एक मंत्री की शान में चार-चांद लगाता है। मंत्री तो हवाई जहाज से नीचे कभी यात्रा ही नहीं करते। दिल्ली तो इनके लिए घर-आंगन है। महीने में चार-पांच चक्कर मजे में लगा आते हैं। मंत्री को मिलनेवाली सुख-सुविधाओं को छोड़ दें, तो सिर्फ वेतन-भत्ते के मद में हर माह 4000 रुपये मिलते हैं। सबसे महत्वपूर्ण है कि मंत्री अपनी आय पर जो टैक्स देते हैं, वह भी सरकारी खजाने से। अभी कुछ महीने पहले उनके वेतन-भत्ते में बढ़ोतरी हुई है। एक मंत्री को मिलनेवाली सुख-सुविधाओं (नीचे चार्ट) को देखें और अनुमान लगायें कि इतने खर्च में झारखंड के कितने गरीबों के पेट भरे जा सकते हैं। जिनका काम दो गाड़ियों से आसानी से चल सकता है, वे छह-छह गाड़ियों का काफिला क्यों लेकर चलते हैं? फिर अनगिनत हवाई यात्राएं, अनगिनत टेलीफोन कॉल्स। आखिर इन सार खर्चो का बोझ अंतत: सरकारी खजाने पर ही पड़ता है। महीने में डेढ़ लाख सिर्फ तेल पर फूंकते हैंमंत्री का वेतन-भत्ताड्ढr वेतन - 10, 500 रु पये (प्रतिमाह)ड्ढr सत्कार भत्ता- 12,000 रुपयेड्ढr क्षेत्रीय भत्ता - 8,000 रुपयेड्ढr चिकित्सा भत्ता - 3,000 रुपयेड्ढr दैनिक भत्ता- 500 रु. = 15,500 रु. मासिकड्ढr ुख-सुविधाएंड्ढr तीन गाड़ियां (ड्राइवर सहित) प्रति गाड़ी प्रति माह 300 लीटर तक ईंधन, ईंधन पर खर्च 31, 500 रुपयेड्ढr तीन ड्राईवर का वेतन- 000 रुपये (कई मंत्री छह गाड़ियों का काफिला लेकर चलते हैं)ड्ढr छह गाड़ियों पर ईंधन के मद में डेढ़ लाख रुपये महीने खर्च होता हैड्ढr एक सुसज्जित शानदार आवासड्ढr आवास पर डेढ़ लाख रुपये का फर्नीचर फ्रीड्ढr हवाई यात्राएं -अनगिनतड्ढr एचओआर (ट्रेन के फर्स्ट क्लास एसी में छह यात्रियों को यात्रा सुविधा)ड्ढr महीने में औसतन एक लाख रुपयेड्ढr टेलीफोन घर और आवास (अनगिनत कॉल्स की सुविधाएं)ड्ढr दस हाार रुपये मासिक औसतनड्ढr महंगा मोबाइल सेट और अनगिनत कॉल्स की सुविधाएंड्ढr पांच हाार रुपये मासिकड्ढr 16 जवानों की सुरक्षा गारद , खर्च- वेतन-भत्ता = तीन लाख, 20 हाार(मासिक) (प्रति जवान 10 हाार वेतन, 10 हाारीए-डीए)ड्ढr स्टॉफ - सरकारी कोटे से पीए- एक - 20, 000 रुपये ( सभी मासिक)ड्ढr रूटीन क्लर्क- एक 10, 000 रुपयेड्ढr चपरासी - दो , 16,000 रुपयेड्ढr स्टॉफ -बाह्य कोटे से आप्त सचिव - एक 20, 000 रुपये (सभी मासिक)ड्ढr रूटीन क्लर्क -एक 10,000 रुपयेड्ढr आदेशपाल - तीन - 24, 000रुपयें

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एक मंत्री पर साल भर में एक करोड़ खर्च