DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पविवि: स्नातकोतरकी नामांकन तिथि में होगा बदलाव

पटना विश्वविद्यालय को जिस तेजी से केंद्रीय विवि के रास्ते पर ले जाने का प्रयास किया जा रहा था, कर्मचारियों की हड़ताल से उसमें ब्रेक लग गया है। कर्मचारियों की हड़ताल के लिए जितने दोषी कर्मचारी हैं उससे कहीं अधिक विवि प्रशासन है। कर्मचारियों की हड़ताल के कारण स्नातकोतर में नामांकन कार्य पूरी तरह से ठप हो गया है। इस स्थिति में एक जुलाई से शुरू होने वाला सत्र अब समय पर शुरू नहीं हो सकेगा। स्नातकोतर नामांकन तिथि में बदलाव की भी संभावना है। इस संबंध में विवि प्रशासन का कहना है कि स्नातकोतर की नामांकन तिथि में बदलाव अवश्य होगा। अभी 10 जून तक फार्म बिक्री की तिथि निर्धारित की गयी थी और इसके बाद फार्म भरने की प्रक्रिया शुरू होनी थी।ड्ढr ड्ढr 15 जून से नामांकन शुरू होने की सभावना थी। अब इस पूरी प्रक्रिया में विवि प्रशासन को फेरबदल करनी होगी। छह जून से कर्मचारियों की जारी हड़ताल से नामांकन फार्म बेचे जाने की प्रक्रिया पूरी तरह से बाधित हो गयी है। वहीं विवि मुख्यालय व दरभंगा हाउस के नहीं खुलने देने और पदाधिकारी व विभागाध्यक्षों को कार्यालय में नहीं बैठने के कारण नामांकन प्रक्रिया में फेरबदल जरूर होगी। वहीं स्नातक स्तर पर नामांकन की प्रक्रिया के भी बाधित होने की आशंका जतायी जा रही है। हालांकि अभी पटना विवि कॉलेज कर्मचारी संघ काम पर है और इस कारण कॉलेजों में नामांकन फार्म बिक रहे हैं। लेकिन जिस प्रकार की स्थिति बन रही है उससे लग रहा है कि कॉलेजों में भी काम-काज बाधित हो सकता है।ड्ढr अब पटना विवि के एकेडमिक कैलेंडर को लागू कर पाना संभव नहीं हो पाएगा। एक जुलाई से क्लास शुरू कराने की योजना खटाई में पड़ गयी है। अब विवि प्रशासन को नए सिर से शैक्षणिक सत्र शुरू करने की योजना बनानी होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पविवि: स्नातकोतरकी नामांकन तिथि में होगा बदलाव