DA Image
29 फरवरी, 2020|7:19|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच हचाार से अधिक युवा पहुंचे हिन्दुस्तान एजुकेशन फेयर

हिन्दुस्तान एजुकेशन फेयर ने हाारों छात्र-छात्राओं को बेहतर करियर के लिए मागदर्शन दिया। होटल कैपिटोल हिल में आयोजित दो दिन के इस फेयर में पांच हाार से अधिक छात्र-छात्राओं ने अपने मनपंसद कोर्स की जानकारी ली।ड्ढr विभिन्न संस्थान के संचालकों द्वारा यहां आनेवाले छात्र-छात्राओं को सभी प्रकार की जानकारियां उपलब्ध करायी गयी। नये-नये कोर्स और भविष्य में मिलनेवाले मौके के बार में भी उन्हें जानकारी दी।ड्ढr फेयर में आनेवाले छात्र-छात्राओं को वोकेशनल और प्रेफेशनल कोर्सो की जानकारी दी गयी। ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन, वोकेशनल, डिस्टेंस लर्निग और पार्ट टाइम कोर्स के बार में छात्रों ने विस्तृत जानकारी हासिल की। छात्र-छात्राओं ने कोर्स के लिए फार्म लिए और कुछ ने नामांकन के लिए प्रक्रिया की पहल की। रविवार की छुट्टी के कारण छात्र-छात्राएं बड़ी संख्या में अपने परिानों के साथ यहां पहुंचे। सुबह 10 बजे फेयर शुरू होते ही छात्र-छात्राओं का समूह कैपिटोल हिल में पहुंचने लगा। दोपहर 12 बजते-बजते होटल कैपिटोल हिल स्थित मेला परिसर छात्र-छात्राओं से भर गया। छात्र-छात्राओं का समूह हर स्टॉल पर जा रहा था।ड्ढr दिन के दो बजे बारिश होने के बाद भी छात्र-छात्राओं का समूह फेयर में पहुंचता रहा। स्टॉलधारियों द्वारा स्टॉल पर उन्हें कोर्स की जानकारी, फीस की संरचना, कोर्स के बाद की संभावनाओं आदि पर विस्तार से जानकारी दी गयी। चार बजे के बाद से फिर छात्र-छात्राओं की भीड़ बढ़ने लगी। शाम सात बजे तक यहां विद्यार्थियों की कतार लगी। फेयर में देश के विभिन्न हिस्सों से आये 27 से अधिक संस्थानों द्वारा विद्यार्थियों का मार्गदर्शन किया गया।ड्ढr रिस्पांस से स्टॉलधारी खुशड्ढr हिन्दुस्तान एजुकेशन फेयर में छात्र-छात्राओं के रुझान से स्टॉलधारी काफी खुश थे। दो दिन के इस फेयर में जिस प्रकार से छात्र-छात्राओं ने विभिन्न कोर्स और भावी करियर की जानकारी ली, उससे स्टॉलधारियों में काफी उत्साह था। यहां तक कि कुछ स्टॉलधारियों का कहना था कि अगर एक दिन के लिए फेयर को बढ़ा दिया जाता तो बेहतर होता। स्टॉलधारियों ने कहा कि रांची के छात्र-छात्राएं ज्यादा जागरूक हैं, कोर्स के साथ-साथ बदलते समय का भी उन्हें ज्ञान है। किस क्षेत्र में बेहतर करियर बनाया जा सकता है इसकी भी उन्हें काफी जानकारी है। खर्च और आय को लेकर भी छात्र-छात्राएं जागरूक हैं और इसपर उनकी पैनी नजर है। स्टॉलधारियों ने कहा कि इस प्रकार का आयोजन यहां लगातार किया जा सकता है।ं

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: पांच हचाार से अधिक युवा पहुंचे हिन्दुस्तान एजुकेशन फेयर