DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

असम में बंद से जनजीवन प्रभावित

पेट्रोलियम पदार्थो के मूल्यों में बढ़ोतरी के विरोध में असम में सोमवार को विपक्षी दलों द्वारा सुबह से शाम तक बंद रखे जाने से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। बंद के कारण राज्य की दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे और सड़कों पर बहुत कम लोग दिखे। एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘शैक्षणिक संस्थान बंद रहे और ज्यादातर सार्वजनिक और निजी वाहन नदारद रहे।’’ गौरतलब है कि राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी असम गण परिषद (एजीपी) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 12 घंटे के बंद का आह्वान किया है। दोनों दलों द्वारा आहूत बंद को राज्य की अन्य छोटी पार्टियां भी समर्थन दे रही हैं। एजीपी के अध्यक्ष बृंदाबन गोस्वामी ने कहा, ‘‘इस राज्यव्यापी बंद को जनसमर्थन हासिल है। केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोलियम पदार्थो के मूल्यों में की गई वृद्धि से जनता खुश नहीं है।’’ भाजपा नेता ध्रुब बैश्य ने कहा कि सरकार तेल के मूल्यों पर नियंत्रण करने में विफल रही है और इसका सबसे ज्यादा असर आम जनता पर ही पड़ रहा है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: असम में बंद से जनजीवन प्रभावित