अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैसे हुआ लाखों का मोबाइल बिल बकाया

ंयूमर हैं बीएसएनएल के और बिल बकाया दो-दो लाख का। आम उपभोक्ताओं के लिए यह अचरा का कारण हो सकता है पर विभागीय मिलीभगत हो तो यह भी संभव है। बिल न देने वाले इन उपभोक्ताओं के फोन अब काटेोा रहे हैं पर पैसा कैसे वसूल होगा, इस बार में अधिकारियों को भी कुछ नहीं पता।ड्ढr बीएसएनएल के सामान्य मोबाइल उपभोक्ताओं के कनेक्शनोहाँ एक बिल बकाया होते ही महीने की 25 तारीख तक काट दिएोाते हैं वहीं एक-एक उपभोक्ता पर लाखों रुपए बकाया होोाने के बाद भी अफसर चैन की नींद सोते रहे हैं। इन सभी मामलों में एक ौसी मॉडस अपरण्डी दिखाई दे रही है। र्दानों उपभोक्ताओं ने पहले सामान्य मोबाइल कनेक्शन लिए फिर मौका पाकर उस पर आईएसडी सुविधा ले ली। ऐसे कई उपभोक्ता कई महीने तक लाखों की कॉल करते रहे यह तभी संभव हैोब लेखाधिकारियों की सहमति हो। महीनों तक बिल नोमा किएोाने के बावाूद उनके कनेक्शन कैसे चलते रहे? इसका हल खोाोाना है। विभागीय मिलीभगत से मोबाइल पर 2,03,243 रुपए बिल होने तक उनका कनेक्शन चलता रहा। मोबाइल 000208 पर 1,3पए बकाए तक उसका फोन नहीं काटा गया। मोबाइल 02033से 1,64,58पए की काल होने तक लेखाधिकारी बैठे रहे। मोबाइल 02114 पर 1,61,034 रुपए, मोबाइल 07333 पर 1,13,पए, मोबाइल 02676 पर 53,448 रुपए और मोबाइल पर 63,501 रुपए का बिल अदा न होने पर कनेक्शन काटा गया है। सीाीएम ओमवीर सिंह का कहना है बकाया वसूलने के लिए उपभोक्ताओं को नोटिस दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कैसे हुआ लाखों का मोबाइल बिल बकाया