अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड़ताली डॉक्टरों के साथ समझौता नही

पीएमसीएच के हड़ताली जूनियर डॉक्टरों के खिलाफ सरकार ने अपने तेवर और कड़े कर लिये हैं। सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और स्वास्थ्य मंत्री नन्दकिशोर यादव ने एकसाथ कहा कि हड़तालियों के साथ समझौते का सवाल ही नहीं उठता। तीर छूट चुका है, अब वापस नहीं होने वाला। इलाज की बजाय मारपीट करने वाले डॉक्टरों को करनी का फल भोगना पड़ेगा। व्यवस्था पर नजर रखना मीडिया का काम है। उसे ऐसा करने से कोई रोक नहीं सकता। गया, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, पीएमसीएच और एनएमसीएच में मरीजों के रजिस्ट्रशन का आंकड़ा जारी कर सरकार ने दावा किया कि स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह सामान्य है।ड्ढr ड्ढr जनता दरबार के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पीएमसीएच में पत्रकारों और मरीजों के साथ मारपीट के मामले की पुलिस तहकीकात कर रही है। जो भी लोग कानून अपने हाथ में लेंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई तो होगी ही। सरकार उसके साथ कतई समझौता नहीं करने वाली। दोषी चिकित्सकों की जल्द गिरफ्तारी होगी। आरोप साबित हुए तो वे प्रैक्िटस के भी योग्य नहीं रह जायेंगे। एक बात तो हम सबको समझा देना चाहते हैं कि मीडिया अगर अपने दायर में रहकर काम करता है तो इसमें गलत क्या है? मरीजों के परिजनों को भी चाहिए कि वे डॉक्टरों को उनका काम करने दें।ड्ढr ड्ढr स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि सोमवार को 12.30 बजे तक पीएमसीएच में 1035 मरीजों का रजिस्ट्रशन हुआ जबकि इमरजेंसी में भी 70 मरीज भर्ती हुए। एनएमसीएच में 1517, गया मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 500, मुजफ्फरपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 754 और दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 1281 मरीजों का रजिस्ट्रशन हुआ। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि कुछ लोगों की हड़ताल से स्वास्थ्य सेवाओं पर कोई फर्क नहीं पड़ा, स्थिति पूरी तरह सामान्य है।ड्ढr ड्ढr पीएमसीएच में 4 और जू. डाक्टर निलंबितड्ढr पटना (हि.प्र.)। सोमवार को पीएमसीएच प्रशासन ने चार अन्य वारंटी जूनियर डॉक्टरों को निलम्बित कर दिया। इस बीच मरीजों के पंजीकरण और इलाज की मॉनिटरिंग का जिम्मा सिविल सर्जन को दे दिया गया है। कालेज के प्राचार्य डा.सीबी चौधरी ने बताया कि डा. एनायतुल्लाह, डा. अभय रंजन, डा. अजहर हसन और डा. संजय कुमार को निलम्बित कर दिया गया है। ये सभी छात्र मेडिसीन विभाग के हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हड़ताली डॉक्टरों के साथ समझौता नही