त्रिकोणीय श्रंखला में भारत ने पाक को धोया - भारत ने पाक को धोया DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत ने पाक को धोया

भारत ने त्रिकोणीय सीरीज में पाकिस्तान को 140 रन से हराकर उसका विजय अभियान रोक दिया। शेर ए बंगाल स्टेडियम में मंगलवार को भारत के बल्लेबाजों और गेंदबाजों दोनों ने शानदार प्रदर्शन किया। इस तरह उसने पाकिस्तान का लगातार 13वीं जीत की ओर बढ़ता कारवां रोक दिया। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए आठ विकेट पर 330 रन का भारी भरकम स्कोर खड़ा किया। उसके टॉप आर्डर ने जमकर फायर किया। ओपनर विरंद्र सहवाग (8और गौतम गंभीर (62) ने बेहतरीन अर्धशतक जमाए। दोनों ने पहले विकेट पर 155 रन की साझेदारी कर बड़े स्कोर की आधारशिला रखी। जवाब में पाकिस्तान 35.4 ओवर में केवल 10 रन बनाकर सिमट गया। पाकिस्तान के खिलाफ यह भारत की सबसे बड़ी जीत है। कप्तान शोएब मलिक ने अकेले दम संघर्ष करते हुए 53 रन की पारी खेली। उन्हें दूसर छोर से किसी बल्लेबाज का सहयोग नहीं मिला। प्रवीण कुमार (453) ने पाकिस्तान के शुरुआती तीन बल्लेबाजों को जल्दी जल्दी चलता कर उसकी कमर तोड़ दी। दो विकेट तो उन्हें लगातार गेंदों पर मिले। युवा स्पिनर पीयूष चावला ने 40 रन देकर चार विकेट लिए और बाकी की टीम समेट दी। सहवाग और गंभीर के धमाके बाद युवराज सिंह ने भी पाकिस्तानी आक्रमण की क्लास ली। भारतीय पारी में बारिश ने भी बाधा डाली लेकिन उससे पहले भारतीय बल्लेबाजों के बल्ले से रन बरस चुके थे। सहवाग (8और गंभीर (62) ने पहले विकेट के लिए 21 ओवर में 155 रन जोड़ यह तो तय कर दिया था कि टीम का स्कोर 300 के पार पहुंचेगा। एसा हुआ भी। हां, पाकिस्तानी गेंदबाजों ने मध्य और निचले क्रम के बल्लेबाजों को खुल कर नहीं खेलना दिया। पाकिस्तान आक्रमण की कमान उमर गुल के हाथ में थी। उन्होंने खुद को साबित भी किया। अपने कोट के 10 ओवर में उन्होंने 61 रन दिए और भारत के तीन बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया। भारतीय बल्लेबाज पर लगातार दो बीमर डालने के चलते वहाब रियाज को 10 ओवर का कोटा पूरा करने से रोक दिया गया। यह रियाज का 10वां ही ओवर था। दो गेंद फेंकी थीं कि अम्पायर ने उन्हें रोक दिया। रियाज सबसे महंगे गेंदबाज भी साबित हुए। उन्होंने ओवर मेंी औसत से 86 रन दिए और दो बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया। शाहिद आफरीदी ने दो विकेट लिए।ड्ढr फील्डिंग में पाकिस्तान कमजोर साबित हुआ। यूनुस खान ने ही दो बार गंभीर का कैच छोड़ा। पहला चार रन पर और दूसरा 2पर। ये दोनों कैच उन्होंने स्लिप में छोड़े। उन्होंने पहला कैच गुल की और दूसरा वहाब की गेंद पर फेंका।ड्ढr सहवाग की पारी भी बेदाग नहीं रही। उन्हें भी एक जीवनदान मिला। जब वह 43 रन पर थे उस समय विकेटकीपर कामरान अकमल ने उन्हें राव इफ्तिखार की गेंद पर टपकाया। सहवाग को पैवेलियन की ओर चल दिए थे। री-प्ले में जब पता चला कि अकमल ने जमीन से लगने के बाद कैच लिया है तो उन्हें वापस बुलाया गया। सहवाग ने अपनी पारी के दौरान 76 गेंदों का सामना किया। इस दौरान उन्होंने 13 चौके और वहाब को लम्बा छक्का भी लगाया।ड्ढr गंभीर ने 62 गेंदों का सामना किया और छह चौके लगाए। सहवाग और गंभीर दोनों अभी-अभी 20-20 के मूड में नजर आए। युवराज को लय में आने में थोड़ा समय जरूर लगा लेकिन बाद में उन्होंने धुआंधार बल्लेबाजी की और 54 गेंदों में 55 रन ठोके। इन दौरान उन्होंने चार चौके और चार छक्के लगाए।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: त्रिकोणीय श्रंखला में भारत ने पाक को धोया