DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मानव संसाधन विभाग ने दिया निर्देश: 5 साल से जमे प्राचार्य बदलें

मानव संसाधन विभाग ने सूबे के सभी नौ विश्वविद्यालयों को 5 साल की अवधि पूरी कर चुके कालेजों के प्रिंसिपल का तबादला करने को कहा है। विभाग ने पिछले बजट सत्र में बिहार विधानमंडल से पास हुए बिहार राज्य विवि (संशोधन) विधेयक, 2008 का हवाला देते हुए विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को निर्देश दिया है कि वे ऐसे प्रधानाचार्यो की सूची तैयार करें।ड्ढr ड्ढr विधेयक में यह प्रावधान किया गया है कि राज्य के विश्वविद्यालयों में अब कुलपतियों द्वारा विभागाध्यक्षों की नियुक्ित चक्रानुक्रम सिद्धांत पर मात्र 3 साल के लिए की जाएगी। साथ ही आम तौर पर लगातार दो बार विभागाध्यक्ष नियुक्त नहीं किया जाएगा। वहीं किसी कालेज में प्रधानाचार्य की पोस्टिंग की अवधि अधिकतम 5 साल के लिए होगी। मंत्री हरिनारायण सिंह की अध्यक्षता में हाल ही में शिक्षा विभाग में हुई कुलपतियों की बैठक में पहले 5 साल पूरा कर चुके प्रधानाचार्यो के तबादले का निर्णय लिया गया। इसके तहत कुलपतियों को इस विधेयक के तहत आवश्यक कार्रवाई कर अगस्त तक विभाग को सूचित करने को कहा गया है। इसके दायर में सूबे के अधिसंख्य कालेजों के प्रिंसिपल आ रहे हैं। इससे प्रधानाचार्यो में हड़कम्प है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मानव संसाधन विभाग ने दिया निर्देश: 5 साल से जमे प्राचार्य बदलें