DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षक नियुक्ितउम्र सीमा बढ़ी

सरकार ने माध्यमिक शिक्षकों की नियुक्ित में उम्र सीमा में पांच वर्ष की छूट दे दी है। साथ ही बीएड कर रहे छात्रों को भी नियुक्ित फॉर्म भरने की अनुमति दे दी। माध्यमिक विद्यालय सेवा शर्त नियमावली संशोधन प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी गयी। पहले जहां सामान्य अभ्यर्थियों की अधिकतम उम्र सीमा 40 थी, अब 45 होगी। एससी एवं एसटी के उम्मीदवार अब 50 वर्ष तक शिक्षक बन सकेंगे।ड्ढr मंगलवार को कैबिनेट की बैठक के बाद एनएन पांडेय ने बताया कि सरकार ने नियुक्ित- ट्रांसफर नीति में भी परिवर्तन का फैसला किया है। सरकारी विद्यालयों के प्राचार्य एवं शिक्षकों की तैनाती गृह जिले में ही होगी। ऐसा संभव नहीं हो पाने की स्थिति में उनके द्वारा दिये तीन ऑप्शनों पर पदस्थापना की जायेगी। पदस्थापन के बाद सामान्यत: उनका तबादला नहीं होगा। बीएड में फार्म भरने के लिए 45 फीसदी अंक निर्धारित होने के चलते अब शिक्षक नियुक्ित में भी स्नातक के रिजल्ट में 50 की शर्त के घटाकर 45 प्रतिशत कर दिया गया है। कैबिनेट ने महिला आयोग नियमावली पर भी मंजूरी प्रदान कर दी है। बीएड कर रहे छात्रों को भी मिली आवेदन देने की अनुमतिड्ढr प्राचार्य और शिक्षकों का ट्रांसफर नहीं किया जायेगाड्ढr महिला आयोग नियमावली को भी मंजूरीछह मंत्री नहीं आये कैबिनेट की बैठक मेंड्ढr कैबिनेट बैठक में सीएम समेत छह ही मंत्री आये। बंधु तिर्की एवं स्टीफन मरांडी को छोड़ कोड़ा को अल्टीमेटम देनेवाले भानू, जोबा मांझी नहीं पहुंचे। कमलेश, चंद्रप्रकाश, एनोस और दुलाल भी शामिल नहीं हु ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शिक्षक नियुक्ितउम्र सीमा बढ़ी