अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डायची व रैनबैक्सी के बीच सौदा अंतिम चरण में

दवा बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी रैनबैक्सी लेबोरेटरीज के प्रोमोटरों द्वारा जापान के डाईची सैंक्यो को हिस्सेदारी बेचने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। इस खबर के साथ ही बुधवार को कंपनी के शेयर 4.8 प्रतिशत ऊपर चले गए। मालविंदर मोहन सिंह और शिविंदर मोहन सिंह के संयुक्त स्वामित्व वाली कंपनी रैनबैक्सी लेबोरेटरीज के मौजूदा प्रोमोटर्स अपने 34.82 प्रतिशत हिस्सेदारी 2.7 अरब डॉलर की अनुमानित राशि में बेचना चाहते हैं। देश के दवा उद्योग के संभवत: इस सबसे बड़े सौदे के बारे में मालविंदर सिंह ने कहा, ‘‘यह महत्वपूर्ण सौदा साबित होगा। इससे देश के दवा उद्योग का परिदृश्य बदल जाएगा।’’ उल्लेखनीय है कि दवा बनाने वाली जापान की कंपनी डाइची सैंक्यो ने पिछले महीने घोषणा की थी कि भारत में उसकी अनुषंगी कंपनी ‘डाईची सैंक्यो इंडिया फार्मा’ अपने कारोबार का विस्तार करेगी। बताया जा रहा है कि इस सौदे से डाईची सैंक्यो को भारत में ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उन सभी देशों में भी कारोबार फैलाने का मौका मिलेगा जहां रैनबैक्सी की उपस्थिती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डायची व रैनबैक्सी के बीच सौदा अंतिम चरण में