DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बांग्लादेश के खिलाफ नरमी नहीं बरतेगा भारत

चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को 140 रन के रिकार्ड अंतर से रौंदने के बाद भारत की नजर गुरुवार को यहां शेर-ए बांग्ला नेशनल स्टेडियम में बांग्लादेश के खिलाफ एक और जोरदार जीत के साथ फाइनल के लिए अपनी तैयारी मजबूत करने पर होगी। आखिरी लीग मैच में मेजबान टीम को धोनी के धुरंधर किसी सूरत में हल्का नहीं आंक रहे हैं। भारत मंगलवार को पाकिस्तान के खिलाफ रनों के लिहाज से अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज कर इस त्रिकोणीय क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल की तरफ मजबूती से कदम बढ़ा चुका है। बांग्लादेश अपने पहले मैच में पाकिस्तान से 70 रन से हार गया था। पाकिस्तान ने अपने दो मैचों में से एक हारा है और एक जीता है। यदि गुरुवार को बांग्लादेश कोई उलटफेर करता है तो वह पाकिस्तान के फाइनल में खेलने का समीकरण बिगाड़ सकता है। बांग्लादेश टीम जसा खेल रही है, उसे देखते हुए यह तय है कि भारत के खिलाफ जीत दर्ज करने के लिए उसे खासा पसीना बहाना पड़ेगा। भारत के युवा खिलाड़ियों ने पाकिस्तान के लगातार 12 मैच जीतने का विजयरथ जिस अंदाज में रोका उसे देखते हुए बांग्लादेश के खिलाफ भारत को जीत का प्रबल दावेदार माना जा रहा है और पूरी संभावना है कि भारत बांग्लादेश को रौंदकर फाइनल में एक बार फिर पाकिस्तान से ही भिड़ेगा।ड्ढr कप्तान धोनी ने, इस बात के संकेत देते हुए कि वह टीम अपनी जीत के सिलसिले को बरकरार रखना चाहते हैं, कहा, ‘हमें हर मैच जीतना है। वास्तव में यह जीत और हार का मामला ही नहीं है। हमें तो मैदान में जकर अपनी ताकत और क्षमता के हिसाब से खेलना है। हर-कोई जीतना चाहता है। कल पाकिस्तान के खिलाफ हमने अच्छा मैच खेला। उम्मीद करते हैं कि बारिश कल मजा खराब नहीं करगी।’ इसके जरिए धोनी ने यह भी दर्शा दिया है कि मेजबान बांग्लादेश को कल हार से भगवान ही बचा सकता है। धोनी ने साफ तौर पर कहा कि बांग्लादेश के खिलाफ जीत ऐसे ही नहीं मिल जाएगी। उन्होंने कहा, ‘उनके पास बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही में काफी गहाई है। पाकिस्तान के खिलाफ एक मैच से नहीं आकना चाहिए। हमें वर्तमान में देखना चाहिए, हमें बांग्लादेश के खिलाफ जीतना ही होगा, जहां से हम फाइनल में जाएंगे। जहां हमें अपनी क्षमता से खेलना होगा। इसके बाद एशिया कप के बार मे सोचना होगा।’ड्ढr भारतीय टीम में एक चीज के लेकर चिंता है और वो है 20 ओवर के बाद गेंद को सही ढंग से देखने में दिक्कत आती है। यहां की पिच पर काली मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है। इसमें 20 ओवर के बाद गेंद पूरी तरह से खराब हो जाती है। जिससे उसे देखना वास्तव में मुश्किल हो जाता है।ड्ढr धोनी के लिए सबसे उत्साहजनक बात यह है कि उनके दोनों धुरंधर ओपनर विरन्दर सहवाग और गौतम गंभीर आईपीएल के 20-20 फॉर्मेट में सफल रहने के बाद एकदिवसीय मैच में भी उसी अंदाज में खेलते नजर आ रहे हैं। उपकप्तान युवराज सिंह का फॉर्म में लौटना भी भारतीय टीम के लिए सुखद खबर है। युवराज आईपीएल में अपनी पूरी लय में नहीं खेल पाए थे। मध्यक्रम में यूसुफ पठान और रोहित शर्मा जल्दी आउट हुए थे। लेकिन दोनों ही प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं और धोनी को उम्मीद रहेगी कि वे एकदिवसीय प्रारूप से भी अपना सामंजस्य जल्दी बैठा लेंगे। गेंदबाजी में भी भारत के युवा खिलाड़ियों ने पाकिस्तान के खिलाफ सराहनीय प्रदर्शन किया और पूरी उम्मीद है कि उनका यह प्रदर्शन बांग्लादेश के खिलाफ भी बरकरार रहेगा। तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार, इशांत शर्मा और इरफान पठान तीनों की सटीक गेंदबाजी को खेलना बांग्लादेश के बल्लेबाजों के लिए दुष्कर होगा। लेग स्पिनर चावला की गुगली भी बांग्लादेश बल्लेबाजों को परेशानी में डाल सकती है।ड्ढr बांग्लादेश की टीम हालांकि प्रतिभाशाली है लेकिन उसके साथ यही समस्या रही है कि उसके प्रदर्शन में कोई निरंतरता नहीं है। यह टीम कभी चौंकाने वाला प्रदर्शन करती है तो कभी इसका प्रदर्शन बहुत खराब रहता है। भारतीय क्रिकेट प्रेमी विश्वकप में बांग्लादेश के हाथों पहले राउंड में शर्मनाक शिकस्त को अब तक नहीं भूल पाए हैं। पाकिस्तान के खिलाफ कप्तान मोहम्मद अशरफुल को छोड़कर बांग्लादेश का अन्य कोई बल्लेबाज विकेट पर नहीं टिक पाया। बांग्लादेश के पिछले मैच के प्रदर्शन को देखते हुए उसे यह उम्मीद नहीं की जा सकती कि वे धोनी के धुरंधरों को कोई चुनौती दे पाएंगे। (एजेंसियां)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बांग्लादेश के खिलाफ नरमी नहीं बरतेगा भारत