DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कचचोच ने किया रक्षात्मकचच नीति कचचा बचाव

ग्रीस के कोच ओटो रेहजल ने यूरो 2008 फुटबॉल टूर्नामेंट में मंगलवार को स्वीडन के खिलाफ ग्रुप ‘डी’ के मुकाबले में टीम की रक्षात्मक नीति का बचाव किया है। टीम ने रक्षात्मक नीति अपनाते हुए स्वीडन के स्ट्राइकरों हेनरिक लारसन और लाटन इब्राहिमोविक को रोकने के लिए अपनी रक्षापंक्ित में पांच खिलाड़ियों को तैनात कर रखा था। रेहजल ने मैच के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘अगर हम इस तरह नहीं खेलते तो पहले हॉफ में स्कोर हमारे खिलाफ 5-0 होता। हम भी गोल करना चाहते थे, लेकिन सच्चाई यह है कि हमने अधिक गोल नहीं किए हैं। इसलिए हमारी प्राथमिकता प्रतिद्वंद्वी टीम के आक्रमण को रोकने की है।’ चार वर्ष पहले ग्रीस को आश्र्चजनक खिताबी जीत दिलाने वाले रेहजल ने कहा, ‘आपको समझना चाहिए कि हमारे पास जर्मन टीम की तरह आक्रामक क्षमता नहीं है। आज हमारे कुछ खिलाड़ी अपनी पूरी क्षमता के साथ नहीं खेल पाए। उन्होंने अपनी तरफ से पूरी कोशिश की, लेकिन स्वीडन जैसी मजबूत टीम के सामने उनका प्रयास पर्याप्त नहीं था।’ उन्होंने कहा, ‘स्वीडन ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया। उनकी टीम इस जीत की हकदार थी।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कचचोच ने किया रक्षात्मकचच नीति कचचा बचाव