अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजरंग

है अगर दुश्मन जमाना..भगवान कर, हनी भइया को किसी की नजर न लगे! का किस्मत पाये हैं! अइसा किस्मत कि अपना करीबी लोग से भी उनका सुख देखा नहीं जा रहा। जब-ाब आसमान में बदरी छाती है, हनी भइया अपने हाथ से पकौड़ा छान के खाने का मूड बनाते हैं। सोचते हैं अपने भाई-बंधु लोग को भी बुला कर पकौड़ा और चटनी की दावत दें। पर खोजवाने पर कोई मिलता ही नहीं। पता चलता है कि सब लोग हनिये भइया की जड़ खोदने की फिराक में दिल्ली अउर न जाने कहां-कहां निकले हैं। बाकिर जड़ खोदेवाले लोग के पते नहीं है कि हनी भइया की कुरसिया कवनो ताश के पत्ता से नहीं बनी है। उनकी कुरसिया पूरी तरह भूकंपरोधी बिल्डिंग जसन है। उसमें जादो सरिया लगा है। अंतरराष्ट्रीय ब्रांड के मैडम सीमेंट का इस्तेमाल हुआ है। गुरुाी कंपनी के चिप्स से ढलाई हुई है। इसको हिलाना मखन-मलाई टाइप के हवा-हवाई भूकंप के बस का नहीं। पर बंधु-बांधव लोग को लगता है कि मखन-मलाई टाइप के भूकंप से सेटिंग करके हनी भइया को डिस्टर्ब कर देबेंगे, पर अइसा होने को नहीं है। फिर इहो तो सोचिये, सरकार अपने लोगन के लिए केतना सोच रही है। ट्रांसफर-पोस्टिंग वाला बोड़वा ढोने के लिए डबल इांन वाला हेलिकॉप्टर मंगवा रही है। पर अपने लोग हैं कि हनिये भइया के पीछे पड़ल हैं। पर जाननेवाले बताते हैं कि हनी भइया आजकल पूरी मस्ती में गा रहे हैं.. है अगर दुश्मन जमाना गम नहीं.. गम नहीं.. कोई आये.. कोई, हम किसी से कम नहीं..।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजरंग