DA Image
3 जुलाई, 2020|4:00|IST

अगली स्टोरी

सिलीगुड़ी में सेना उतरी

अलग गोरखालैंड की मांग पर गोरखा जनमुक्ित मोर्चा (ाीजेएम) के हिंसक आंदोलन के जवाब में गुरुवार को सिलीगुड़ी में आमरा बांगाली के कार्यकर्ताओं ने मोर्चा के लोगों पर जम कर हमले किए। सिलीगुड़ी को लगभग बंधक बना लिया। बाद में हिंसा ने सांप्रदायिक रंग ले लिया और लोग पहाड़ी और मैदानी गुटों में विभाजित हो गए। स्थिति बिगड़ती देख मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य ने सेना को बुलाने का फैसला किया। मुख्यमंत्री ने मसले पर 17 जून को सर्वदलीय बैठक बुलाई है।ड्ढr ड्ढr स्थिति से निपटने को केंद्र ने पारा मिलिट्री फोर्स के एक हाार जवानों को प. बंगाल भेजा है। देर शाम जवानों ने शहर में फ्लैगमार्च भी किया। दार्जिलिंग में हिंसा के विरोध में गुरुवार को सिलीगुड़ी की स्थिति तब बिगड़ने लगी, जब मोर्चा विरोधी आमरा बांगाली और माकपा समर्थक जन चेतना मंच भी हिंसा पर उतर गये।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: सिलीगुड़ी में सेना उतरी