DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिकॉर्ड मोल पर बिकी भारतीय चित्रकार की कृतियां

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेजी से लोकप्रियता हासिल करते जा रहे भारतीय चित्रकार सुबोध मेहता की कृतियां क्रिस्टी की ओर से बुधवार को आयोजित भारतीय समकालीन कला की बिक्री के दौरान फ्रांसिस न्यूटन सूजा और तय्यब मेहता की कृतियों की तरह महंगे दामों पर बिकीं। स्टील के पात्र पर उकेरी गई उनकी शीर्षक रहित रचना तो 12 लाख डॉलर में बिकी। इस बिक्री के दौरान कला पारखियों ने गुप्ता, सूजा और मेहता का काम सबसे ज्यादा पसंद किया और उनकी कृतियों की बिक्री ने नया रिकॉर्ड बनाया। सूजा की 1में रचित ‘बर्थ’ टीना अंबानी की बहन ने 25 लाख डॉलर में खरीदी। वह मुंबई में हार्मनी आर्ट फाउंडेशन चलाती हैं। रिक्शाचालकों का दर्द उजागर करने वाली मेहता की शीर्षक रहित कृति 1लाख डॉलर में बिकी। मेहता की ऐसी ही एक अन्य कृति 2005 में न्यूयॉर्क में 16 लाख डॉलर में बिकी थी। इस बिक्री के दौरान 111 कृतियों में क्रिस्टी 78 को अच्छे दामों पर बेचने में सफल रही। इसमें सूजा और सईद हैदर रजा और मकबूल फिदा हुसैन को खरीददार नहीं मिल सके जबकि गुप्ता और टीवी संतोष जसे कलाकारों की कृतियों की बिक्री से संस्था को खासा मुनाफा हुआ। पिछले महीने हवाई अड्डे पर सामान से भरी ट्राली खींचते व्यक्ति को दर्शाने वाली गुप्ता की पेंटिंग क्रिस्टी ने हांगकांग में करीब 12 लाख में नीलाम की, जो गुप्ता का एक रिकार्ड था। इस तरह क्रिस्टी पर सुबोध गुप्ता के दो रिकॉर्ड बन गए हैं और अपनी कलाकृतियों के लिए लाखों डॉलर पाने वाले वह सबसे कम आयु के चित्रकार बन गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रिकॉर्ड मोल पर बिकी भारतीय चित्रकार की कृतियां