अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्लोबल देवता

खबर है कि अमरिका क लगभग हान वाल राष्ट्रपति आबामा बराक जी भी हनुमानजी क सहार चलत हैं। जब मं हमशा हनुमानजी का छाटा प्रतिरूप रखत हैं। यह खाकसार ता बचपन स ही हनुमानजी का ग्लाबल दवता मानता है। अब बराक साहब इस कनफर्म कर रह हैं। रामजी ता लंका युद्ध करन बाद मं गय थ, उसस पहल ता मौका ए वारदात पर जाकर रिपार्ट लन और दुश्मन की फारन टरिटरी मं घुसकर हिम्मत दिखान का काम ता हनुमानजी न ही किया था। हनुमानजी तब स ग्लाबल हैं, जब य ग्लाब भी कायद स ना बना था। हालांकि हनुमानजी स बचपन मं शिकायतं रही हैं। दस बरस की उम्र मं मैं एक बार वयस्कां वाली फिल्म दखन क लिए जिस हाल मं गया, वहां मर गुरुजी भी उस फिल्म का दखन आ पहुंच। पूरी जारदारी स मैंन प्रार्थना की कि ह हनुमानजी गुरुजी स बचा ला। पर नहीं बच पाया, गुरुजी न चांट मार। मैंन उनस कहा- गुरुजी आप भी ता दखन आय हा यह वाली फिल्म। ता उन्हांन चार और चांट मारत हुए बताया कि व वयस्क हैं और यह दखना उनकी जिम्मदारी है कि काई अवयस्क ता इस फिल्म मं नहीं आ गया है।ड्ढr बाद मं एक हनुमान भक्त न बताया, इस तरह की अर्जियां पर हनुमानजी क यहां विचार नहीं हाता। कैरक्टर मजबूत करन वाली अर्जियां पर, ब्रह्मचर्य मजबूत करन वाली अर्जियां पर ही वहां विचार हाता है।ड्ढr खैर बाद मं तमाम इस तरह की पढ़ाइयां मं फंस गया कि कैरक्टर खराब करन की फुरसत ही नहीं मिली। बाद मं एक प्रेम कांड मं मैंन गुहार लगाई। काई मदद नहीं मिली। फिर एक हनुमान भक्त न बताया कि यह उनका डिपार्टमंट नहीं है। किसी ढंग क लिए काम क लिए पावर चाहिए हा, ता वहां जाना। अब क्या बताऊं कि ढंग का काम ही करना हाता, ता व्यंग्यकार क्यूं बनता।ड्ढr खैर, अब गर्व हाता है हनुमानजी पर, ग्लाबलाइजशन का हल्ला काटन वाला सुन ला, हनुमानजी स पहल ग्लाबल काई नहीं था। और उनक ग्लाबल हान का सबूत अब बराक साहब द रह हैं। बंगलूर मं गणशजी का एक मंदिर हैं, जिस पासपार्ट गणशजी का मंदिर कहा जाता है। यहां स कृपा मिल जाय, ता अमरिका का वीसा क्िलयर हा जाता है। अब ता मामला सुपर डुपर हा लिया है, हनुमानजी सीध प्रसीडंटश्वर हा लिय हैं। अब तो सुपर पावर तक जाने के लिए एच वन बी वीज़ा के सार रास्ते बजरंग बली के दरवाजे से ही खुलेंगे। ह हनुमानजी, जा भी अमरिका का प्रेसीडंट हा, उस समझाना कि एसा ग्लाबल उधम नहीं मचाना चाहिए।ड्ढr ह प्रेसीडंटश्वर, तुम ही समझा सकत हा। जय हा प्रेसीडंटश्वर हनुमान की।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ग्लोबल देवता