अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सत्य की जीत होती है होनी ही चाहिए

धर्मातरित इसाइयों को भी एसटी का लाभ जारी रखने के हाइकोर्ट के फैसले का कार्डिनल तेलेस्फोर पी टोप्पो ने स्वागत किया है। उन्होंने कहा है कि सत्य की जीत होती है और होनी ही चाहिए। कार्डिनल कनाडा से फोन पर हिन्दुस्तान के साथ बातचीत कर रहे थे।ड्ढr हाइकोर्ट ने फैसले में कहा है कि धर्मातरित इसाइयों को एसटी का लाभ मिलता रहेगा, क्योंकि धर्मातरण के बाद भी उनकी परंपरा, रीति-रिवाज और भाषा अक्षुण्ण रहती है। फैसले में कहा गया है कि आदिवासी एक ट्राइब और नस्ल से संबंध रखते हैं, जो धर्म बदलने से नहीं बदलता है।ड्ढr कार्डिनल ने कहा कि कोर्ट का फैसला बिल्कुल सही है। यह हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है। जो जन्म से आदिवासी हैं-वे हमेशा आदिवासी हैं। संविधान ने किसी भी व्यक्ित को अपनी इच्छा के अनुसार धर्म मानने का अधिकार दिया है। हमलोग ईश्वर की इच्छा से आदिवासी हैं। हम अपनी इच्छा से किसी भी धर्म को मान सकते हैं। उन्होने कहा कि इंसान अपनी इच्छा से आदिवासी और गैर-आदिवासी नहीं है। वह ईश्वर की इच्छा से है। उन्होंने कहा कि यह हमारी धार्मिक स्वतंत्रता है, अंत:करण की स्वतंत्रता है। उन्होंने झारखंड के पुरोहितों से इस फैसले की खुशी में मिस्सा चढ़ाने को कहा है। कार्डिनल ने कहा कि कनाडा में सवेर के छह बजे हैं और वह भी मिस्सा चढ़ाने जा रहे हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सत्य की जीत होती है होनी ही चाहिए