DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संकल्प नदियों को बचाने का

विकास भारती के तत्वावधान में गंगा दशहरा के अवसर पर 13 जून को नदी पूजन समारोह का आयोजन किया गया। बिरसा मुंडा राजपथ में हरमू नदी के तट पर सफाई करने के बाद पूजा-अर्चना की गयी। पं शिवशंकर मिश्र के निर्देशन में पूजा हुई। अनुष्ठान किया गया। कार्यक्रम के संयोजक ललन शर्मा ने बताया कि हरमू नदी अतिक्रमण के कारण संकरी होती जा रही है। राजधानी का कूड़ा-कचरा इसमें डालने से नदी नाले में बदल गयी है। नदियों की सुरक्षा और पवित्रता बनाये रखने के लिए जागरूकता की जरूरत है। उन्होंने बताया कि जलपुरुष राजेंद्र सिंह के आह्वान पर नदी दिवस मनाया जा रहा है। राज्य के विभिन्न प्रखंडों की 115 नदियों पर कार्यक्रम आयोजित किया गया है।ड्ढr वक्ताओं ने कहा कि नदियां और जलाशय संकट में हैं। गंगा जैसी पवित्र नदी असुरक्षित और मैली हो गयी है। नदियों पर प्रदूषण और अतिक्रमण के कारण खतरा बढ़ता ही जा रहा है। नदियों को पुनर्जीवित करने का कार्य करना होगा। प्रारंभ में लोहरदगा के राजेश कुमार ने पर्यावरण गीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन वैद्यनाथ उरांव ने किया। मौके पर अयोध्यानाथ मिश्र, पत्रकार मधुकर, एलबी प्रसाद, डॉ समर सिंह, महेश बाधवानी, गोपाल प्रसाद सोनी और अन्य उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संकल्प नदियों को बचाने का