अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्टेट बैंक के चीफ मैनेजर घूस लेते धराये

भारतीय स्टेट बैंक आंचलिक कार्यालय के चीफ मैनेजर विष्णु शरण सिन्हा को सीबीआइ पशुपालन कोषांग सह भ्रष्टाचार निरोधक शाखा की टीम ने शुक्रवार को घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। वह ज्ञानेंद्र पांडेय से अपने ऑफिस में 10 हाार रुपये ले रहे थे। शाम में विष्णु शरण सिन्हा के हेरिटेा गार्डेन स्थित आवास पर छापामारी शरू की गयी, जो देर रात तक जारी था। इस संबंध में कांड संख्या आरसी 3(ए)08 दर्ज किया गया है।ड्ढr ज्ञानेंद्र पांडेय का कहना है कि पिस्का मोड़ में उनकी इनवर्टर और बैटरी की दुकान है। उन्होंने बैंक से 10 लाख का कैश क्रेडिट कराया है। तीन साल पहले उनके दुकान में चोरी हो गयी। इंश्योरंस क्लेम करने पर पांच लाख रुपये स्वीकृत हुए। इसे पांडेय ने उपभोक्ता फोरम में चुनौती दी, जो मामला अब तक लंबित है। इसी बीच चीफ मैनेजर ने उन्हें धमकी देना शुरू किया कि बैंक से जो लोन लिये हो, उसे चुकता करो, वरना घर और दुकान नीलाम करा देंगे। जब उसने चीफ मैनेजर से सहायता की गुहार लगायी, तो उन्होंने बतौर रिश्वत 50 हाार रुपये की मांग की। जिसका सूचना उसने सीबीआइ को दी। 13 जून को वह घूस की पहली किश्त के रूप में 10 हाार रुपये दे रहे थे, तभी सीबीआइ की टीम ने चीफ मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया।ड्ढr सीबीआइ का विरोधड्ढr सीबीआइ अफसर उस समय सकते में आ गये जब स्टेट बैंक के अधिकारियों ने उन्हें घेर लिया। ब्यूरो के अधिकारियों ने तत्काल एसपी को फोन किया। एसपी आरसी चौधरी ने कोतवाली थाने से फोर्स मंगाया और घटनास्थल पहुंचे। इसके बाद मामला शांत हुआ।ड्ढr जब सीबीआइ की टीम ने श्री सिन्हा को दबोचा, तो सहायक महाप्रबंधक जे सुजाता विरोध करने लगीं। उन्होंने कहा कि सिन्हा को फंसाया जा रहा है। बात जब बढ़ने लगी, तब सीबीआइ एसपी वहां पहुंचे और गिरफ्तार अधिकारी को ब्यूरो के कार्यालय ले आये। वहां उनसे लंबी पूछताछ की गयी। चीफ मैनेजर की दो बेटियां हैं। एक पांडिचेरी में मेडिकल की पढ़ाई कर रही है, जबकि दूसरी दिल्ली यूनिवर्सिटी में है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: स्टेट बैंक के चीफ मैनेजर घूस लेते धराये