DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'द.अफ्रीका के बाद खेल को सुधारने पर दिया ध्यान'

'द.अफ्रीका के बाद खेल को सुधारने पर दिया ध्यान'

टीम इंडिया के ओपनिंग क्रम की बैकबोन बन चुके शिखर धवन भले ही हालिया प्रदर्शन को लेकर इन दिनों आलोचकों के निशाने पर हैं लेकिन इसके बावजूद बल्लेबाज ने माना है कि दक्षिण अफ्रीका में खराब प्रदर्शन ने उन्हें एक परिपक्व खिलाड़ी बनने में मदद की है। 
        
धवन ने दक्षिण अफ्रीकी सीरीज में चार पारियों में केवल 76 रन बनाए लेकिन फिर इसके ठीक बाद न्यूजीलैंड में अपने प्रदर्शन में उन्होंने व्यापक सुधार किया। धवन को भले ही विदेशी जमीन पर अपने लचर प्रदर्शन के लिए आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा लेकिन खुद ओपनिंग बल्लेबाज मानते हैं कि इस स्थिति ने उन्हें बेहतर खेलने के लिए प्रेरित किया।
      
अपने आक्रामक खेल और साथ ही अपनी स्टाइलिश मूंछों के लिए लोकप्रिय धवन ने क्रिकइंफो को दिये अपने साक्षात्कार में कहा कि दक्षिण अफ्रीका में ज्यादा रन नहीं बना सका। लेकिन इसके बाद मैंने अपने खेल की समीक्षा की। एक ओपनर की तरह मैंने इस पर ध्यान दिया कि मुझे किस तरह के शॉट्स खेलने चाहिए या नहीं। हर पिच अलग होती है और भारत में खेलने के बाद मैंने दक्षिण अफ्रीका में खेला जहां मैं खुद को ढाल नहीं सका। 
         
बल्लेबाज ने कहा कि मैं यह नहीं कहूंगा कि दक्षिण अफ्रीका में मुझे असफलता झेलनी पड़ी लेकिन उन परिस्थितियों ने मुझे एक परिपक्व खिलाड़ी बनने की प्रेरणा दी। मैंने यहां सीखा कि मुझे इस तरह के ट्रैक पर कैसे खेलना है। शुरुआत में मुझे बाउंसर्स नहीं खेलने हैं। ऐसी कुछ बातों का अब मैं अपनी प्रैकिटस में ध्यान रखता हूं। न्यूजीलैड में मैंने इस पर ध्यान दिया और बड़ी पारियां खेली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'द.अफ्रीका के बाद खेल को सुधारने पर दिया ध्यान'