DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विकास के एजेंडे पर चुनाव लड़ेंगे सत्यपाल सिंह

विकास के एजेंडे पर चुनाव लड़ेंगे सत्यपाल सिंह

उत्तर प्रदेश के बागपत से लोकसभा चुनाव लड़ने को इच्छुक मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त सत्यपाल सिंह ने मंगलवार को कहा कि कुछ भाजपा विधायकों पर लगे दंगों के दाग से उनकी संभावनाओं पर असर नहीं पड़ेगा और वह रालोद नेता अजित सिंह के गढ़ में विकास के एजेंडे पर चुनाव लड़ेंगे।

फरवरी में अपने पद से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल होने वाले सिंह ने हालांकि स्वीकार किया कि उनके निर्वाचन क्षेत्र में लोगों, विशेषकर मुस्लिमों और जाटों में मुजफ्फरनगर दंगों के बाद से बेहद कड़वाहट की भावना है। पूर्व मुंबई पुलिस आयुक्त ने जोर देकर कहा कि वह विकास के मुद्दे पर ध्यान देंगे।

उन्होंने कहा कि मुझे उनकी (मुस्लिमों) प्रतिक्रिया मिल रही है। हर कोई विकास चाहता है। मुझे नहीं पता कि किसी के दिमाग में क्या है। यदि बिजली, सड़कें और उद्योग धंधे हैं तो इससे सभी को लाभ होगा। उन्होंने साथ ही कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कई अध्यापक उनके प्रचार अभियान में शामिल हुए हैं।

दंगों में भाजपा की संलिप्तता के आरोपों को राजनीतिक दुष्प्रचार कहकर खारिज करने के साथ ही उन्होंने हिंसा भड़काने के आरोपी कुछ विधायकों समेत क्षेत्रीय भाजपा नेताओं से दूरी भी बना ली है। उन्होंने कहा कि मैं यहां किसी और की बात करने नहीं आया हूं। एक अपराधी अपराधी है। अपराध, अपराध है। हर किसी को न्याय मिलना चाहिए।

सिंह ने कहा कि मोदी प्रभाव से उन्हें इलाके में जाटों पर अजित सिंह की पकड़ को तोड़ने में मदद मिलेगी। रालोद प्रमुख पर हमला बोलते हुए सिंह ने कहा कि उन्होंने (अजित सिंह) क्या किया है। बागपत एनसीआर क्षेत्र का सर्वाधिक अविकसित हिस्सा बन गया है। सड़कें इतनी खराब हैं। यहां कोई उद्योग नहीं है और रोजगार के अवसरों की तो बात ही मत करिए।

हालांकि भाजपा ने अभी उनके नाम की घोषणा नहीं की है, लेकिन ऐसी रिपोर्टें हैं कि पार्टी की महाराष्ट्र इकाई के नेता सिंह को मुंबई से चुनाव लड़ाना चाहते हैं। पूर्व पुलिस अधिकारी का कहना है कि वह बागपत से चुनाव लड़ेंगे, जिसके बारे में वह कहते हैं कि सर्वाधिक मुश्किल सीटों में से एक है।

उन्होंने कहा कि मैं एक सिपाही हूं। मुझे चुनौतियां पसंद हैं। यह वह जगह भी है जहां मैं पैदा हुआ और पला बढ़ा। यह इतनी खराब हालत में है। अव्यवस्था में से व्यवस्था बनाना एक सिपाही का कर्तव्य है। मैं इसे करूंगा और मैं जीतूंगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विकास के एजेंडे पर चुनाव लड़ेंगे सत्यपाल सिंह