DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दोहरे हत्याकांड में आठ अभियुक्तों को उम्रकैद

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले की एक अदालत ने दोहरे हत्याकांड के करीब 10 साल पुराने मामले में तीन सगे भाइयों समेत आठ अभियुक्तों को उम्रकैद तथा जुर्माने की सजा सुनायी है।

अभियोजन पक्ष के अनुसार बिल्सी क्षेत्र के धिलवारी गांव में चार नवम्बर 2004 को एक खेत में बोरों से भगवान स्वरूप तथा पप्पू नामक व्यक्तियों के शव बरामद किये गये थे। विवेचना में पता लगा कि स्वरूप और स्थानीय निवासी राम प्रकाश पाठक के बीच जमीन को लेकर विवाद था और इसी बात को लेकर दोनों के बीच कई बार झगड़ा भी हो चुका था।

जांच के दौरान पुलिस को रामप्रकाश के घर पर खून के निशान भी मिले थे। शक पुख्ता होने पर पुलिस ने राम प्रकाश को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उसने पूरा राज खोल दिया। इकबालिया बयान के मुताबिक राम प्रकाश ने स्वरूप और पप्पू को अपने घर पर बुलाकर उनकी धारदार हथियार से प्रहार करके हत्या कर दी और शवों को बोरों में भरकर खेत में फेंक दिया।

राम प्रकाश के मुताबिक वारदात को अंजाम देने में हरिओम, संजीव, उमेश, उसके भाई नरेश तथा बजेश के अलावा अवधेश तथा रविशंकर ने भी सहयोग किया था।

विशेष न्यायाधीश (अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति) हरिहर प्रसाद यादव ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद राम प्रकाश समेत सभी आठ अभियुक्तों को हत्या का दोषी मानते हुए कल उम्रकैद और आठ-आठ हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनायी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दोहरे हत्याकांड में आठ अभियुक्तों को उम्रकैद