DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

होली के हुड़दंग से बचें छात्र

होली के हुड़दंग से बचें छात्र

बोर्ड की परीक्षाएं चल रही हैं, पर होली का हुड़दंग भी छात्रों को मचाना है। रंगों के इस त्योहार का आनंद उठाते हुए वे परीक्षा में अच्छे अंक कैसे लाएं, बता रही हैं नमिता सिंह

छात्र इस बात को लेकर अंदर ही अंदर अवसाद में जी रहे होंगे कि यह परीक्षा भी ऐसे समय में आती है, जिसके चलते हर खुशी काफूर हो जाती है। न ठीक से तैयारी हो पाती है और न ही होली अथवा अन्य खुशनुमा लम्हों को वे ठीक से जी पाते हैं।  

सावधानी हटी, दुर्घटना घटी
होली खेलें तो अबीर-गुलाल से। रंग सिर्फ नाममात्र का हो। आप अपनी परेशानी अपने मित्रों से बता भी सकते हैं कि इसके चलते आप बड़ी परेशानी में पड़ सकते हैं। यह सत्य है कि यदि छात्रों ने अपनी तैयारी सही ढंग से की है तो होली के नाम पर खर्च किए गए कुछ घंटों से उनका नुकसान नहीं होगा, बल्कि इस समय को वे खुद को तरोताजा होने में लगा सकेंगे। बस ध्यान रखें कि होली खेलते हुए आपको कोई चोट न आए।

दूसरों के बहकावे में न आएं
ऐसा नहीं है कि 12 घंटे की पढ़ाई से ही आपका लक्ष्य सधेगा, यदि थोड़ा सा खेल लिए तो सब कुछ खत्म हो जाएगा। लेकिन बाल मन हुड़दंग में रमता है तो फिर पढ़ाई की चिंता बिल्कुल भी नहीं रहती। पढ़ाई के बीच-बीच में थोड़ा सा रिफ्रेशमेंट जरूरी है, लेकिन कोई थकान वाला रास्ता न अपनाएं। इससे आपको जल्दी नींद आ जाएगी और पढ़ाई के घंटे कम हो जाएंगे।

पेरेन्ट्स की भूमिका भी अहम
होली का त्योहार हर साल परीक्षा की तैयारी के दौरान अथवा परीक्षा के दिनों में ही आता है। होली खेलने का मन तो करता है, पर बच्चे अपने अभिभावकों के डर से कमरे में चुपचाप दुबके रहते हैं। यदि बच्चों का मन होली खेलने का कर रहा है तो उन्हें रोके नहीं, बल्कि उन्हें यह एहसास दिलाएं कि उनके पेपर चल रहे हैं, इसलिए वे ज्यादा देर तक न खेलें। परीक्षा के बाद तो उनको मस्ती भरे कई महीने मिलते हैं।

पढ़ाई हो पहली प्राथमिकता
दसवीं या बारहवीं तक पहुंचते-पहुंचते बच्चों में इतनी क्षमता तो विकसित हो ही जाती है कि वे अपने भले-बुरे के बारे में सोच सकें। आपके अभिभावक आपके दुश्मन नहीं हैं, वे आपकी तरक्की को लेकर चिंतित रहते हैं। यदि उन्होंने होली खेलने या अन्य किसी कार्य के लिए छूट दी है तो उसका नाजायज फायदा न उठाएं। पढ़ाई तथा परीक्षा में अच्छे अंक लाना पहली प्राथमिकता होनी चाहिए।    

एक्सपर्ट व्यू/जितिन चावला
छुट्टियों का भरपूर सदुपयोग करें

होली के दौरान छात्रों को जो भी गैप मिलता है, यदि वे उसे पढ़ाई की बजाए खेलने-कूदने या हुड़दंग में लगा देंगे तो उनका कीमती समय बर्बाद हो जाएगा। यह दौर ऐसा है, जो एक बार नष्ट हो गया तो इसकी भरपाई चाह कर भी कभी नहीं की जा सकेगी।

छात्र कुछ ऐसा टाइम टेबल बनाएं कि उनकी होली की मस्ती की बलि न चढ़े और न ही पढ़ाई बाधित हो। जो समय आप होली के मद्देनजर खर्च कर रहे हैं, संभव हो तो उसकी भरपाई एक्स्ट्रा समय निकाल कर पहले ही कर लें या बाद में अतिरिक्त समय दें। यदि आप ऐसा करते हैं तो अभिभावकों को भी डांटने की जरूरत नहीं पड़ेगी और घर का वातावरण भी खुशनुमा बना रहेगा। पर इसके लिए आपको खुद के प्रति ईमानदार रहना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:होली के हुड़दंग से बचें छात्र