DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पैसा खर्च कर लहर बना रहे मोदी : वृंदा करात

रांची। वरीय संवाददाता। माकपा की पोलित ब्यूरो की सदस्य वृंदा करात ने कहा कि नरेंद्र मोदी के पास 1,000 करोड़ रुपए प्रचार के लिए हैं। हर कोई चाय पीकर कई मुद्दों पर चर्चा करता है। मोदी इसके लिए करोड़ो खर्च करते हैं। फिर लहर होने की बात बताई जाती है। यह कृत्रिम ब्रांडिंग है। कोई लहर नहीं है। इस चुनाव में जनता भाजपा और कांग्रेस दोनों को उनकी नीतियों का जवाब देगी। चुनाव के बाद लक्ष्य को पूरा करने का प्रयास होगा।

राज्यों में वामदलों के साथ मिलकर नया विकल्प पेश किया जाएगा। वह 10 मार्च को मेनरोड स्थित पार्टी कार्यालय में प्रेस से बात कर रही थी। उनके साथ राज्य सचवि गोपीकांत बक्शी, रांची से पार्टी प्रत्याशी राजेंद्र सिंह मुंडा और प्रकाश विप्लव भी थे।

भ्रष्टाचार को बढ़ा रही टीएमसीवृंदा ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस से झारखंड में भ्रष्टाचार के अध्याय में नया पन्ना जुड़ गया है। चिटफंड के पैसे के कालाधन, दलबदलू आधारित राजनीति कर रही है। जानकारी होने पर अन्ना हजारे के समर्थक दुखी होंगे।

हमदर्दो को उन्हें इसकी जानकारी देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आप खुद कहती है कि उसकी कोई विचारधारा नहीं है। उनका एक वीडियो सारी सच्चाई को उजाकर करता है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इसमें दो राय नहीं है कि महात्मा गांधी को आरएसएस ने टारगेट किया था।

उनकी हत्या भी की गई। अलग-अलग घोषणा पत्रवृंदा ने बताया कि हर लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी का अलग-अलग घोषणा पत्र होगा। रांची में भ्रष्टाचार मिटाने, जनता आधारित शहर का विकास, नौजवानों को रोजगार, विधि-व्यवस्था, महिलाओं की सुरक्षा को इसमें शामिल किया गया है।

चुनाव खर्च की सीमा बढ़ाकर चुनाव आयोग ने धनी के लिए चुनाव आसान कर दिया है। कालाधन रखने, लूटने का काम करने, कार्पोरेट के प्रतिनिधि ही चुनाव लड़ पाएंगे। अब तो वैध की सीमा 70 लाख हो गई है। अवैध खर्च के बारे में कहा ही नहीं जा सकता है। राज्य में सात सीटों पर वामएकता रहेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पैसा खर्च कर लहर बना रहे मोदी : वृंदा करात