DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य में पहली बार उच्च शिक्षा परिषद का गठन

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। शिक्षा विभाग ने राज्य में उच्च शिक्षा की स्थिति सुधारने और गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए राज्य उच्च शिक्षा परिषद (एसएचईसी) का गठन कर दिया है। शिक्षा मंत्री पीके शाही की अध्यक्षता में गठित इस काउंसिल के उपाध्यक्ष जाने-माने शिक्षाविद् और पूर्व प्राचार्य डॉ. कामेश्वर झा होंगे। हालांकि इसकी अधिसूचना अभी जारी नहीं हुई है।

आचार संहिता के मद्देनजर शिक्षा विभाग ने इसकी अधिसूचना जारी करने की अनुमति चुनाव आयोग से मांगी है। अनुमति मिलते ही अधिसूचना जारी हो जाएगी। इसके बाद राज्य में पहली बार गठित स्टेट हायर एजुकेशन काउंसिल पूरी तरह से अस्तित्व में आ जाएगा। इसमें तीन विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति को सदस्य बनाया गया है। अधिसूचना जारी होने के बाद ही यह साफ होगा कि किस-किस कुलपति को इसमें स्थान दिया गया है। एसएचईसी का मुख्य कार्य उच्च शिक्षा में हो रहे तमाम क्रिया-कलापों की सतत मॉनिटरिंग करना होगा।

इसके अलावा उच्च शिक्षा को बेहतर करने के लिए यह योजनाएं भी बनाएगा। साथ ही समय-समय पर विभाग को यह सुझाव देगा कि क्या-क्या बेहतर किया जाए। बदलते समय के साथ कोर्स पैटर्न और कोर्स प्लान को सशक्त बनाने पर भी ध्यान देगा। उल्लेखनीय है कि डॉ. कामेश्वर झा एलएन मिथिला विश्वविद्यालय के अनेक कॉलेजों के प्राचार्य रहे हैं। उन्होंने सरदार बल्लभ भाई पटेल पर पुस्तक भी लिखी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राज्य में पहली बार उच्च शिक्षा परिषद का गठन