DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छोटे-छोटे कदमों से बड़ा लक्ष्य साधने में जुटी बसपा

विशेष संवाददाता, राज्य मुख्यालय। राष्ट्रीय दल जहां अभी तक लोकसभा चुनाव के लिए टिकट वितरण में उलङो हुए हैं, बहुजन समाज पार्टी के नेता कॉडर कैम्प और छोटी-बड़ी जनसभाओं के माध्यम से पार्टी के जनाधार को मजबूत करने में जुटे हुए हैं। जबकि खुद पार्टी मुखिया मायावती नयी दिल्ली में दूसरे राज्यों की चुनावी तैयारियों की समीक्षा कर रही है। बसपा अधिकांश लोकसभा सीटों पर करीब एक साल पहले ही प्रभारी तय कर चुकी है।

जब तक पार्टी आधिकारिक तौर पर प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं करती है तब तक पार्टी द्वारा तय संभावित प्रत्याशियों को लोकसभा प्रभारी बनाया जाता है। इन प्रभारियों ने अपने-अपने क्षेत्रों में चुनावी तैयारी भी बहुत पहले ही शुरू कर दी थी। चुनाव कार्यालय आदि खोल चुके हैं। अब जब चुनावी महासमर का बिगुल बज चुका है इन लोगों ने चुनाव प्रचार तेज कर दिया है।

छोटी-बड़ी सभाएं और घर-घर जाकर प्रचार कर रहे हैं। दूसरी ओर, पार्टी के विधानसभा, सेक्टर और बूथ स्तर के पदाधिकारी, भाईचारा कमेटियां और बीवीएफ के लोग गांव-गांव जाकर कॉडर कैम्पों और सभाओं के जरिए लोगों को पार्टी की विचारधारा से जोड़ने के काम में लगी है।

वहीं ये लोग प्रदेश में बसपा की 5 साल रही सरकार की उपलब्धियां खासतौर पर कानून व्यवस्था के मोर्चे पर रही उपलब्धियां और सपा सरकार की इस मोर्चे पर नाकामी भी बता रहे हैं। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राम अचल राजभर ने इस बाबत पूछे जाने पर बताया कि जोन कोआर्डिनेटरों और जिला प्रभारियों से कहा गया है कि वे सेक्टर और बूथ स्तर पर प्रदेश में बसपा की 5 साल रही सरकार की उपलब्धियों और पार्टी की नीतियों का प्रचार करें।

उन्होंने बताया कि जिला प्रभारी गांव-गांव में यह प्रचार करेंगे कि बसपा की सरकार प्रदेश की सर्वश्रेष्ठ सरकार थी। बसपा सरकार के समय कानून-व्यवस्था इतनी चुस्त थी कि 5 साल में एक भी दंगा नहीं हुआ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छोटे-छोटे कदमों से बड़ा लक्ष्य साधने में जुटी बसपा