DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपा सिटिंग सीटों पर मजबूत दांव लगाने की तैयारी में

राजीव बाजपेयी राज्य मुख्यालय। मोदी की हवा, भाजपा के पक्ष में दिखता माहौल, कार्यकर्ताओं का उत्साह लेकिन सबसे बड़ी चिन्ता सिटिंग सीटों की। ताकि इन सीटों पर लाज बचे दिग्गजों की। भाजपा की चिन्ता वैसे तो यूपी की सभी 80 सीटें हैं लेकिन सर्वोच्च प्राथमिकता पर वे 20 सीटें हैं जिन पर भाजपा ने 2009 के लोकसभा चुनाव में विजय प्राप्त की थी या वह दूसरे स्थान पर रही। भाजपा ने पिछले लोकसभा चुनाव में 71 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे थे।

पार्टी को कुल मिलाकर 96 लाख 94 हजार से अधिक वोट मिले और उसके दस उम्मीदवार चुनाव मैदान में जीते। पार्टी के प्रत्याशी इतनी ही सीटों पर दूसरे स्थान पर रहे जबकि 30 सीटों पर वे तीसरे और 16 सीटों पर चौथे स्थान पर रहे। पार्टी ने इन 20 सीटों को मुख्य निशाने पर ले लिया है और इसकी पूरी रणनीति बनायी गयी है।

प्रत्याशियों की घोषणा होने के तुरन्त बात इस पर अमल शुरू हो जाएगा। पार्टी का सोचना है कि अगर यह 20 सीटें भाजपा के खाते में पक्के तौर पर आ जाएंतो उत्तर प्रदेश की चुनावी लड़ाई में भाजपा को कोई भी दल पीछे नहीं कर सकता है।

इसीलिए इन सभी सीटों पर पार्टी प्रत्याशियों, कार्यकर्ताओं, नेताओं तथा संघ के लोगों के बीच सामन्जस्य पर पूरा जोर दिया जा रहा है। भाजपा ने हर लोकसभा क्षेत्र में पालक और संयोजक नियुक्त करते समय इन 20 सीटों के जीते-हारे प्रत्याशियों की राय को महत्व दिया। यही नहीं, नरेन्द्र मोदी की रैलियों में भी सिटिंग सांसदों को काफी महत्व दिया गया।

इसी रणनीति के तहत ही मोदी की रैली के लिए वाराणसी में डा. मुरली मनोहर जोशी, लखनऊ में लाल जी टण्डन, गोरखपुर में योगी आदित्य नाथ, आगरा में राम शंकर कठेरिया, मेरठ में आदि को सीधे व्यवस्था से जोड़ा गया और जिम्मेदारी देते हुए मंच पर भी महत्वपूर्ण स्थान दिया गया।

भाजपा के लोगों का तो यह भी कहना है कि जिन बड़े नेताओं को दूसरी लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ाने की तैयारी है, उनमें भी मुख्य लक्ष्य यही 20 सीटें हैं। अगर कोई सिटिंग अपनी सीट पर फिर से नहीं लड़ पाया तो घोषित प्रत्याशी को जिताने की पूरी जिम्मेदारी सिटिंग सांसद पर ही डाली जाएगी।

इनसेट-2009 में भाजपा की जीती सीटें, प्रत्याशी और मिले वोट -1-मेरठ--राजेन्द्र अग्रवाल- 2,32,137 वोट2- गाजियाबाद- राजनाथ सिंह- 3,59,637 वोट3- आगरा- डा. राम शंकर-2,03,697 वोट4आंवला- मेनका गांधी- 2,16,503 वोट5-पीलीभीत- वरुण गांधी-4,19,539 वोट6-लखनऊ-लालजी टण्डन-2,04,028 वोट7-गोरखपुर- आदित्यनाथ-4,03,156 वोट8-बांसगांव- कमलेश पासवान-2,23,011 वोट9- आजमगढ़-रमा कान्त यादव-2,47,64810- वाराणसी- डा. मुरली मनोहर जोशी- 2,03,122।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपा सिटिंग सीटों पर मजबूत दांव लगाने की तैयारी में