DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संक्षिप्त खबर

सेवा पुस्तिका अद्यतन करायेंड्ढr झारखंड राज्य माध्यमिक शिक्षक संघ ने सभी नवप्रोन्नत हेडमास्टरों को सेवा पुस्तिका अद्यतन करा कर एजी को देने को कहा है। प्रमंडलीय सचिव रामबली प्रसाद सिन्हा ने कहा है कि ऐसा नहीं करने पर वेतन भुगतान नहीं हो पायेगा। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय से नवप्रोन्नत हेडमास्टरों की सेवा पुस्तिका संबंधित डीइओ कार्यालय को भेज दी गयी है।ड्ढr टॉपरों का सम्मान कलड्ढr मैट्रिक-इंटरमीडिएट परीक्षा में जिले के तीन-तीन टॉपरों को सम्मानित किया जायेगा। झारखंड एकेडेमिक कौंसिल हॉल में 16 जून को शिक्षा मंत्री इन छात्रों को सम्मानित करंगे। कौंसिल ने जिलावार तीन टॉपरों की सूची भी प्रकाशित की है।ड्ढr प्रारूप जारी करने की मांगड्ढr झारखंड राज्य माध्यमिक शिक्षक संघ ने झारखंड एकेडेमिक कौंसिल से मैट्रिक परीक्षा के प्रश्नपत्र का प्रारूप जारी करने की मांग की है। महासचिव रवींद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि इस साल पाठय़क्रम में व्यापक बदलाव किये गये हैं। प्रश्नपत्र प्रारूप जारी होने से शिक्षण कार्य में आसानी होगी।ड्ढr 153 इंजीनियरों को एसीपी लाभड्ढr हिन्दुस्तान ब्यूरो रांची पथ निर्माण विभाग ने 153 इंजीनियरों को एसीपी का लाभ दिया है। सीएम मधु कोड़ा ने इस मामले में अपनी स्वीकृति दे दी है। एसीपी का लाभ पानेवालों में 18 रिटायर इइ, 67 कार्यरत इइ और 68 एइ शामिल हैं। एसीपी का मामला क्लीयर कराने में विकास आयुक्त एके सिंह और विभागीय सचिव, उपसचिव और इनजीनियर इन चीफ ने सार्थक पहल की है। सभी डीपीसी में हैं। विकास आयुक्त एसीपी का मामला क्लीयर कराने के लिए महीनों से लगे थे। इससे पहले सात बार डीपीसी की बैठक में यह मामला लटका था। दागी इंजीनियरों को इस लाभ से वंचित रखा गया है।ड्ढr विकास आयुक्त ने इस बार में स्पष्ट निर्देश दे रखा था। रगुलर प्रोमोशन नहीं देने की स्थिति में इंजीनियरों की एसीपी की मांग पुरानी थी। 12 साल पर एसीपी का पहला लाभ दिया जाता है। एसीपी से रिटायर इंजीनियरों की पेंशन में बढ़ोत्तरी होगी। एइ को इइ का वेतनमान और इइ को एसइ का वेतनमान मिलेगा। इनमें कई इंजीनियर ऐसे हैं, जिन्हें दो एसीपी का लाभ भी मिलेगा। विभागीय अफसरों के मुताबिक एसीपी की सूची तय करने में सीनियरटी तथा डेट ऑफ ज्वाइन का पूरा ख्याल रखा गया है।ड्ढr चार जिलों में बनेंगे सदर अस्पतालड्ढr संवाददाता रांची राज्य के चार जिलों चतरा, हाारीबाग, धनबाद और जमेशदुर में सदर अस्पताल का निर्माण किया जायेगा। प्रत्येक के निर्माण पर 4.88 करोड़ खर्च होंगे। स्वास्थ्य मंत्री भानू प्रताप शाही ने शनिवार को इसकी प्रशासनिक स्वीकृति दी।ड्ढr नर्सिग कॉलेज के लिए नीति में संशोधनड्ढr राज्य में नर्सिग कॉलेज खोलने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने नीति में संशोधन किया है। नर्सिग कॉलेज खोलने के लिए अब शहरी क्षेत्र में एक एकड़ जमीन और सौ बेड का अस्पताल अनिवार्य होगा। साथ ही दो लाख की बैंक गारंटी भी देनी होगी। नगर निगम क्षेत्र के बाहर तीन एकड़ जमीन और एक लाख रुपये की बैंक गारंटी को अनिवार्य रखा गया है। अर्हता संपन्न संस्थानों को एनओसी दिया जायेगा।ड्ढr ंहन्दुस्तान ऑनलाइन करियर काउंसिलिंग का आयोजन 15 जून रविवार को कोकर स्थित कार्यालय में किया गया है। काउंसिलिंग में विशेष रूप से रक्षा सेवा, नर्सिंग, आइटीआइ, मेडिकल, इंजीनियरिंग, सिविल सर्विसेज, जेपीएससी, नेट, एसएससी, रलवे, बैंकिंग, व्यक्तित्व विकास, साक्षात्कार, इग्नू सहित ओपन यूनिवर्सिटी की तैयारी से संबंधित जानकारी के लिए दिन के एक से चार बजे तक फोन कर सकते हैं। पाठकगण 0651-2545325 और 2547751 पर डायल कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। कर्नल एचएस वर्मा,ड्ढr रामजी सिंह, दीपम बनर्जी,ड्ढr आलोक कुमार, डॉ पी चटर्ाी, शशि प्रकाश, अनल कुमार, इरफान जिया और विनय सिंह।ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संक्षिप्त खबर