DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पत्रकारों को तथ्यों की पुष्टि करनी चाहिए: चिदंबरम

पत्रकारों को तथ्यों की पुष्टि करनी चाहिए: चिदंबरम

वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने सोमवार को कहा कि पत्रकारों को खबर पेश करने से पहले अधिक से अधिक शोध और तथ्यों की पुष्टि करनी चाहिए।

केरल केंद्रीय श्रमजीवी पत्रकार संघ की ओर से आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए चिदंबरम ने कहा कि खबर पेश करने की उत्सुकता मैं समझता हूं कि शोध प्रभावित हो रहा है.. मीडिया को शोध और पुष्टि पर अधिक से अधिक ध्यान देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि आज की दुनिया में पत्रकारिता अब रिपोर्टिंग नहीं रह गई है, बल्कि खबर ब्रेक करने से जुड़ गई है। चिदंबरम ने कहा कि मैं समझता हूं कि आज के प्रतिस्पर्धी दुनिया में अगर आप पाते हैं कि किसी पत्रकार को कोई खबर मिल गई है तब वह इसे सबसे पहले पेश करना चाहता है, अन्यथा कोई और इसे पेश कर देगा।

मंत्री ने कहा कि मीडिया पर प्रतिबंधन अच्छा नहीं होगा चाहे यह व्यापक लोकहित में भी क्यों न हो। चिदंबरम ने कहा कि किसी व्यापक हित में मीडिया पर रोक लगाने और मीडिया पर रोक नहीं लगाने में से स्पष्ट तौर पर दीर्घावधि में दूसरा विकल्प लोकहित में है।

उन्होंने स्वीकार किया कि रिपोर्टिंग खतरनाक पेशा बनता जा रहा है। उन्होंने कहा कि वास्तव में पत्रकार संघर्ष वाले क्षेत्रों में जाते हैं। पत्रकारों को संघर्ष वाले इलाकों में अधिक खबरें मिलती हैं। पत्रकारों को इराक, ईरान और सीरिया जैसे पश्चिम एशियाई देशों में अधिक खतरों का सामना करना पड़ता है। इसके साथ एक और संघर्ष का क्षेत्र दक्षिण एशिया है।

चिदंबरम ने कहा कि साल 2013 में सीरिया पत्रकारों के काम के लिहाज से सबसे अधिक खतरनाक रहा जबकि इराक और मिस्र में घातक हमले हुए। यह बात पत्रकारों के संरक्षण से जुड़ी समिति की रिपोर्ट में सामने आई है। इस साल कम से कम 70 पत्रकार मारे गए।

दूसरी तरफ, तमिलनाडु में कांग्रेस के अकेले ही चुनावी मैदान में दम ठोंकने की संभावना नजर आ रही है जहां लोकसभा की 39 सीटें दांव पर लगी होंगी । इस कड़ी चुनौती का बहादुरी के साथ मुकाबला करने का संकेत देते हुए वित्त मंत्री पी चिदम्बरम ने कहा है कि गठबंधन नहीं होने की सूरत में भी पार्टी पुडुचेरी सहित सभी 40 निर्वाचन क्षेत्रों में अपने उम्मीदवार उतारेगी।

चिदम्बरम ने कहा कि कांग्रेस अकेले या अपने सहयोगियों के साथ चुनाव का सामना करेगी। जनता पार्टी, यूनाइटेड जनता दल जैसी पार्टियां भूल गयी हैं लेकिन कांग्रेस उन जैसी नहीं है। यदि कोई गठबंधन नहीं भी होता है तो भी हम सभी निर्वाचन क्षेत्रों में अपने उम्मीदवार उतारेंगे और पार्टी की उपलब्धियों को गिनाकर लोगों से वोट मांगेंगे।

केंद्रीय मंत्री जिले के मनामादुरई में पार्टी के बूथ कमेटी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। कांग्रेस ने अंतिम क्षणों में द्रमुक के साथ गठबंधन का प्रयास किया था लेकिन उन प्रयासों को पार्टी के वरिष्ठ नेता एमके स्टालिन ने पलीता लगा दिया जबकि दूसरी ओर अभिनेता से राजनेता बने विजयकांत की अगुवाई वाली डीएमडीके को भाजपा अपने पाले में करने में सफल हो गयी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पत्रकारों को तथ्यों की पुष्टि करनी चाहिए: चिदंबरम