DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूची जारी होने के बाद जमा करानी होगी फीस

नई दिल्ली। कार्यालय संवाददाता। निजी स्कूल नर्सरी दाखिले की फीस मेरिट सूची जारी होने के बाद ही ले सकते हैं। लॉटरी की प्रक्रिया के दौरान बच्चों का ड्रॉ में नाम आने पर फीस नहीं ली जा सकती। ड्रॉ होने के बाद सूची तैयार करनी होगी। पहली सूची सात फरवरी को सार्वजनिक करनी होगी। उस दिन से फीस जमा कराने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। शिक्षा निदेशालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दाखिले का नया कार्यक्रम घोषित होने के बाद अभिभावक इस बाबत असमंजस हैं।

अभिभावक द्वारा शिकायत की जा रही है कि कई स्कूल ड्रॉ के दिन ही फीस की मांग कर रहे हैं। इतना ही नहीं, कई स्कूलों ने ड्रॉ की सूची जारी करने से पहले ही फीस जमा कराने के लिए अभिभावकों को कहा है। बाकायदा नोटिस बोर्ड व साइट पर जानकारी दी गई है जो कि नियमों के खिलाफ है। ऐसे स्कूलों को गाइडलाइंस के मुताबिक फीस लेनी होगी। इसके अलावा निदेशालय ने साफ किया है कि इस दफा स्कूल मासिक आधार पर फीस लेंगे।

सीट जारी करने के बाद सिर्फ एक माह की फीस देनी होगी। फीस के अलावा किसी भी तरह का शुल्क नहीं लिया जाएगा। बता दें कि बीते 20 दिनों में 350 से अधिक शिकायतें एक्टवििटी चार्ज को लेकर आई हैं। अभिभावकों का आरोप है कि स्कूल मासिक फीस से इतर एक लाख रुपये तक की एक्टवििटी चार्ज मांग रहे हैं। रद्द हुए दाखिलों की फीस वापस लौटानी होगी: जिन स्कूलों ने 27 फरवरी के दिल्ली सरकार के आदेश के बाद लॉटरी निकाली थी और सीटें जारी करते हुए फीस ले ली थी उन्हें अब फीस वापस लौटानी होगी।

दरअसल, वो सभी लॉटरी रद्द कर दी गई है। अब दोबारा से लॉटरी होगी इसलिए स्कूल फीस नहीं रख सकते। अभिभावक संघ का कहना है कि कई स्कूल फीस वापसी न करने का तर्क दे रहे हैं। वे कह रहे हैं कि दोबारा से लॉटरी होगी और यदि पुराने ड्रॉ पर चयनित छात्र का नए ड्रॉ में दोबारा से नंबर आता है तो उन्हें फीस नहीं देनी होगी। स्कूलों का कहना है कि इसी वजह से वे अभी फीस वापसी नहीं कर रहे हैं।

जिनका नंबर नहीं आएगी उन्हें सूची जारी करने के दिन वापस कर दी जाएगी। वहीं निदेशालय के सूत्रों की मुताबित, सीट रद्द कराने पर फीस वापसी की नीति पर जल्द ही नया नियम बनाया जा सकता है। इस बाबत अगले सप्ताह में अधिसूचना जारी होगी। बोर्ड परीक्षा के कारण लॉटरी का अलग-अलग समय: सोमवार को राजधानी के 600 से अधिक स्कूलों पहले चरण का ड्रॉ निकालेंगे लेकिन स्कूल संघ के मुताबिक, इस बार सभी का समय एक नहीं होगा। कोई सुबह आठ बजे से 10 बजे तक लॉटरी निकालेगा तो कहीं पर दोपहर दो बजे के बाद प्रक्रिया शुरू होगी।

दरअसल, ऐसा सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं के कारण हो रहा है। बहरहाल, अभिभावकों को इस संबंध में नोटिस देकर सूचित कर दिया गया है। जिनके पास सूचना नहीं पहुंची है वे सुबह स्कूल से तुरंत संपर्क करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूची जारी होने के बाद जमा करानी होगी फीस