DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

होमगार्ड को बेटे की हत्या में नहीं मिल पा रहा

 बाजार हिन्दुस्तान संवाद।  पुलिस विभाग में डय़ूटी करने वाले एक होमगार्ड को बेटे बब्लू की हत्या में न्याय नहीं मिल पा रहा है। मवई थाने की पुलिस जांच में सुस्ती बरत रही है। हत्या में नामजद आरोपित इनामी घोषित मुख्तार का सुराग पाने के लिए कोटेदार से पूछताछ के लिए पुलिस समय नहीं निकाल पाई है।

मवई थाना क्षेत्र के पकडिम्या गांव निवासी होमगार्ड रामअवध यादव का 27 वर्षीय पुत्र सुशील उर्फ बब्लू का शव 29 मार्च 2010 को नहर में बरामद हुआ था। उसे 27 मार्च को गांव के ही कुछ लोग बुलाकर ले गए थे। बब्लू के पिता रामअवध ने गांव के तीन लोगों को नामजद करते हुए उनके विरुद्घ मवई थाने में मुकदमा दर्ज कराया। तत्कालीन थानाध्यक्ष अनिल सिंह ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। तीसरा आरोपित मुख्तार साढ़े तीन साल से अधिक समय से पुलिस के हाथ नहीं आ रहा है।

कई माह पूर्व उस पर ढाई हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया जा चुका है। इसी बीच पुलिस को पता चला कि मुख्तार के नाम का राशन कार्ड का कोई व्यक्ति इस्तेमाल कर रहा है। सीओ संतोष कुमार सिंह ने मवई थाने की पुलिस को निर्देश दिया कि कोटेदार से पूछताछ कर कार्ड का इस्तेमाल कर रहे व्यक्ति के बारे में पता लगाया जाए। इसके बाद भी पुलिस चुप बैठी है। सीओ का कहना है मुख्तार को पकड़ने के लिए मवई थाने की पुलिस को लगातार निर्देशित किया जा रहा है।

दूसरी ओर रुदौली के एसडीएम केके द्वविेदी ने कहा कि पुलिस जल्द कोटेदार से पूछताछ नहीं करेगी तो वह अपने स्तर से जांच कराएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:होमगार्ड को बेटे की हत्या में नहीं मिल पा रहा