DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज तो संडे है, कई तो फोन करने पर भी

एटा। हिन्दुस्तान संवाद।  मतदाता पुनरीक्षण महाभियान को शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में पूरे जोश के साथ जनता जनार्दन ने लिया। वहीं शहर के कई बूथों पर लापरवाह बीएलओ सेक्टर प्रभारियों के लगातार फोन करने के बाद काफी देर तक पहुंचे। यह स्थिति तब देखने को मिली जब खुद डीएम जेपी त्रिवेदी ने जवाहर लाल नेहरू महाविद्यालय जाकर हिन्दुस्तान के आओ राजनीति करें, मारो वोट की चोट कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे।

उनके आने से पहले महाविद्यालय में भी सुस्ती का आलम बना रहा। चपरासी को गेट खोलने में ही आधा घंटे से अधिक का समय लग गया। गनीमत यह रही कि गेट उनके आने से पहले खुल गया था। महाभियान को सफल बनाने के लिए शहर में एसडीएम रविप्रकाश श्रीवास्वतव ने स्वयं ही कई बूथों पर जाकर मतदाताओं से जागरूकता अभियान में अधिक से अधिक संख्या में आकर वोट बनवाने की अपील की। उनका कहना था कि एक वोट की चोट आपके लोकतंत्र को बदल सकती है।

मतदान में भाग लेकर आप एक अच्छी व टिकाऊ सरकार बना सकते हैं। शहर में कुल 71 बूथ बनाए गए। सुबह से ही सेक्टर प्रभारी अपने-अपने बूथों पर पहुंच गए। लेकिन बीएलओ को नदारद देख सभी के पसीने आ गए। इधर डीएम के आने की सूचना पर स्थिति और खराब नजर आई। प्रभारियों के फोन करने पर कई ने संडे का हवाला दिया। दूसरी तरफ जैसे ही उनको यह पता चला कि डीएम जेपी त्रिवेदी स्वयं ही हर बूथ पर जाकर निरीक्षण करने वाले हैं।

आनन फानन सभी तैयार होकर बूथों पर पहुंच गए। जवाहर लाल नेहरू कालेज में डीएम जेपी त्रिवेदी के साथ एसडीएम रविप्रकाश श्रीवास्तव पहुंचे। यहां पर हिन्दुस्तान के अभियान आओ राजनीति करें, मारो वोट की चोट का उनकी तरफ से उद्घाटन किया गया। उनका कहना था कि लोकतंत्र में वोट का अपना महत्व है। इसे पहचानने की जरूरत है। सभी बीएलओ व सेक्टर प्रभारी अपने-अपने बूथों पर जनता को इसकी महत्ता समझाएं साथ ही नए वोटर बनने के लिए युवाओं को खासतौर पर प्रेरित करें।

इसके बाद डीएम ने कई बूथों पर जाकर अभियान की समीक्षा की। इस दौरान भारी संख्या में भीड़ बूथों पर अपना नाम मतदाता सूची में देखती मिली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आज तो संडे है, कई तो फोन करने पर भी