DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

121 जोड़ो ने अग्नि के समक्ष लिये सात फेरे

 लाटघाट। हिन्दुस्तान संवाद।  हरैया ब्लाक के पटेल इंटर कॉलेज उर्दहिा में गोवर्धन जनकल्याण सेवा समिति के तत्वावधान में 11वां दहेज रहित सामूहिक वविाह कार्यक्रम रविवार को आयोजित हुआ। इसमें कुल 131 जोड़ो ने पंजीकरण कराया था पर मंडप में 121 जोड़ो ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। अग्नि के समक्ष सोनभद्र के पंडित कपिलदेव ने मंत्रोच्चार के साथ नववविाहित जोड़ो को फेरे कराये।

इसमें चार जोड़े मुस्लिम, 17 ऐसी महिलाओं ने भी फेरे लिये जिनके पति की मौत हो चुकी है। दहेज रहित सामूहिक वविाह कार्यक्रम का शुभारंभ भारत रक्षा परिषद के ज्ञानप्रकाश सिंह ने कलशों का दीप प्रज्जवलित कर किया। इसके बाद सभी अतिथियों को अंगवस्त्रम, राजाराममोहन राय व सरदार बल्लभ भाई पटेल को चित्र निर्मित मेमेंटो भेंट किया गया। इसके पूर्व अतिथि आते गये और स्वागत के लिए स्काउट के छात्र के माध्यम से परेड करते हुए मंच तक ले जाया गया।

पंडाल में उपस्थित जनसमुदाय की इतनी भीड़ बढ़ गयी कि उन्हें संभालने में कार्यकर्ताओं को काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ा। प्रत्येक जोड़ो को एक सूट, एक घड़ी, मीठा, बर्तन, एक मंगलसूत्र व लड़की को पूरे कपड़े देते हुए प्रतिज्ञा पत्र व शादी प्रमाण-पत्र दिया गया। मंडप में सभी को खड़े कराकर वर व कन्या ने जयमाल समेत सिन्दूरदान की रस्म अदा की गयी। संयोजक रामशकल पटेल ने कहा कि हमारी कोशशि है कि समाज से दहेज समाप्त होगा, तभी समाज का उद्धार होगा।

उन्होंने उपस्थित जनसमुदाय से अपील किया कि दहेज दानव को समाप्त करने के लिए हम सभी को आगे आना चाहिए। इस दौरान रौनापार, महराजगंज व बिलरियागंज की पुलिस एसओ समेत सुरक्षा व्यवस्था में लगे हुए थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जगदीश सिंह व संचालन परमेश्वर सिंह ने किया। इस मौके पर कैलाशनाथ पटेल महाराष्ट्र, जिपं अध्यक्ष मीरा यादव, विधायक अभय नरायन पटेल, प्रमुख हरैया चंद्रशेखर यादव, दयाराम पटेल, अरविंद जायसवाल, शारदा देवी, उमेश सिंह गुड्ड, हिना देसाई, हरिकेश विक्रम श्रीवास्तव, दिनेश यादव, कमलेश यादव, वंशराज सिंह पटेल, एकमी देवी, शीला सिंह पटेल, देवनाथ सिंह पटेल, रवशिंकर यादव, नागेन्द्र पटेल, रामअधार चौधरी, सीडी वर्मा, शाहआलम आदि मौजूद थे।

इनसेट..अच्छी रही व्यवस्था लेकिन पार्किंग में हुई परेशानीलाटघाट। दहेज रहित सामूहिक वविाह में बारातियों के ठहरने व खाने का अच्छा इंतजाम रहा। वविाह में जलपान, भोजन का बढिम्या इंतजाम किया गया था। दस हजार से अधिक भीड़ जुटने से व्यवस्था खराब होने से बच गयी। कारण कि अंत तक भोजन बनता ही रहा और लोग खाते रहे। पार्किंग में गाड़ियों के लग जाने की वजह से निकलते समय घंटों जाम में आम जनता व वर कन्या को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

पुलिस की अच्छी व्यवस्था के बावजूद लोग पार्किंग में गाडिम्यां ले जाने से परहेज करते रहे। वविाह मंडप में बैण्डबाजे व शहनाईयों की रही गूंजलाटघाट। अतिथियों के सम्मान में बैण्डबाजा व शहनाई बजती रही। पंडाल में महिलाएं व बच्चों की अधिक संख्या हेाने के बावजूद अतिथियों का आदर व सम्मान में कोई कमी नहीं रही। रामशकल सिंह पटेल ने स्वयं अपने परिवार की सातवीं शादी मंडप में कराई। फूलों की वर्षा से पूरा पंडाल महक उठा और सभी आशीर्वाद दिये।

आचार संहिता की वविाह में दिखी हनकलाट

 सगड़ी विधायक अभय नरायन पटेल ने आचार संहिता का हवाला देते हुए मीडियाकर्मियों से फोटो खींचने से मना करते रहे। यहां तक कि जब रामशकल सिंह पटेल उन्हें सम्मानित करने लगे तो उन्होंने मोमेंटो से अपना चेहरा ढक लिया। राजनीति की चर्चा तक किसी राजनैतिक दल ने नहीं किया। आचार संहिता का डर पूरे कार्यक्रम पर देखा गया। संरक्षण अधिकारी ने भी किया वविाहलाटघाट। गाजीपुर जनपद के संतोष कुमार पुत्र साधूशरण ने लक्ष्मी गौतम के साथ फेरे लिये।

जो फैजाबाद में जिला प्रोबेशन विभाग के संरक्षण अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं। जबकि उनकी पत्नी एनजीओ कार्यर्ता हैं। इस वविाह की चर्चा पूरे वविाह मंडप में होती रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:121 जोड़ो ने अग्नि के समक्ष लिये सात फेरे