DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हजारों छात्रों को पूविवि नहीं दे सका प्रवेशपत्र

जौनपुर। निज संवाददाता। वीर बहादुर सिंह पूर्वाचल विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग की लापरवाही इस साल भी उजागर हो ही गयी। सोमवार को सुबह स्नातक के छात्रों की सैन्य विज्ञान विषय की परीक्षा है। हैरानी की बात है कि रविवार की रात तक कालेजों में न तो प्रवेशपत्र पहुंचा था और न ही प्रश्नपत्र व उत्तर पुस्तिका। विवि की घोर लापरवाही का खामियाजा कालेज प्रशासन के साथ छात्रों को भी भुगतना पड़ रहा है।

रविवार को पूरे दिन कालेजों में छात्र प्रवेश पत्र पाने के लिए भटकते रहे। तिलकधारी महाविद्यालय में काफी प्रयास के बाद भी बीए प्रथम, द्वितीय व तृतीय वर्ष के छात्रों को प्रवेशपत्र नहीं मिल सका। कालेज के प्राचार्य डॉ. उदयपाल सिंह के अथक प्रयास से कुछ छात्रों को ही प्रवेशपत्र दिया जा सका। बाकी छात्रों को रोल नम्बर बताया गया ताकि वह सोमवार की परीक्षा में शामिल हो सकें। प्राचार्य ने उन्हें भरोसा दिया कि सोमवार को प्रवेश मिल जाएगा।

प्रवेशपत्र न मिलने से नाराज छात्रों ने होहल्ला भी मचाया। विवि प्रशासन महिनों से मुख्य परीक्षा की तैयारी कर रहा था। पहले फरमान जारी किया गया कि छात्रों को कालेज के अलावा आनलाइन प्रवेशपत्र मिलेगा। छात्र अपना प्रवेश-पत्र डाउनलोड कराकर प्राचार्य से हस्ताक्षर करा सकते है लेकिन वेबसाइट से विवि प्रशासन ने यह कहते हुए प्रवेश-पत्रों को हटा लिया कि शिक्षा माफियाओं को इससे लाभ मिलेगा। अब संकट की कालेजों को लाखों की संख्या में प्रवेश-पत्र प्रिंट आउट कर भेजना पड़ा।

एजेन्सी को जिम्मेदारी सौंपी गयी लेकिन वह प्रिंट करने में नाकाम रहा। नतीजा कालेजों में भी आधा अधूरा प्रवेश-पत्र भेजा गया। जिन छात्रों की सोमवार को परीक्षा थी वह कालेज में प्रवेश-पत्र लेने के उद्ेश्य से पहुंच गए। लेकिन प्रवेश-पत्र नहीं मिल सका। इतना ही नहीं बहुत से छात्रों का नाम व रोल नम्बर भी नहीं है। अब वह परेशान है। कालेज उनकी मदद करने में जुटा है। हैरानी इस बात की है कि एडेड कालेज का कही सेंटर जाना नहीं था तो उनके प्रवेश-पत्र में इतनी देरी क्यों हुई।

प्रवेशपत्र के लिए छात्र परेशान रहे। रविवार की शाम तक बीए प्रथम वर्ष के केवल पांच सौ छात्र-छात्राओं को प्रवेशपत्र ही मिल पाया था। द्वितीय व तृतीय साल के छात्र-छात्राओं को प्रवेशपत्र नहीं मिल पाया था। छात्रों को रोल नम्बर बताकर परीक्षा में शामिल किया जाएगा। डा. यूपी सिंह, प्राचार्य टीडी कालेज ं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हजारों छात्रों को पूविवि नहीं दे सका प्रवेशपत्र